शोपियां एनकाउंटर: 3 आतंकी ढेर, मरने वालों में IPS का भाई भी शामिल

जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में मंगलवार को सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों को मार गिराया गया है. इस मुठभेड़ में एक जवान के घायल होने की खबर है. जानकारी के मुताबिक, इलाके में और आतंकवादियों के छिपे होने की आशंका है, जिसके लिए सुरक्षा बलों का सर्च ऑपरेशन अभी भी जारी है. सुरक्षाबल इन आतंकियों को निष्क्रिय करने के लिए अभियान चला रहे हैं. आतंकियों की गोलीबारी की घटना के बाद से सुरक्षाबलों ने अपना अभियान तेज कर दिया है.

 

मारे गए तीन आतंकियों में एक शमशुल हक है. शमशुल हक का भाई एक आईपीएस अधिकारी है, जो इन दिनों पूर्वोत्तर भारत में तैनात है. आतंकी बनने से पहले शमशुल हक श्रीनगर में बीयूएमएस का छात्र था. वह 22 मई 2018 को कश्मीर विश्वविद्यालय परिसर से गायब हुआ था और कुछ ही दिनों बाद सोशल मीडिया पर उसकी फोटो वायरल होने के साथ उसके आतंकी बनने की पुष्टि हुई थी.

जानकारी के मुताबिक, सुबह सेना की 44 आरआर, सेना के पैरा कमांडो और राज्स पुलिस विशेष अभियान दल एसओजी के एक संयुक्त कार्यदल ने शिरमाल इलाके में आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर तलाशी अभियान चलाया. जवानों ने जैसे ही गांव के बाहर एक बाग में तलाशी शुरू की, तो वहां छिपे आतंकियों ने उन पर फायरिंग शुरू कर दी, जवानों ने भी तुरंत अपनी पोजीशन ली और जवाबी फायर किया. करीब दो घंटे तक चली इस मुठभेड़ में आतंकी ठिकाना भी तबाह हो गया और तीन आतंकी मारे गए, इस दौरान एक जवान भी जख्मी हुआ.

मामले की जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने शोपियां जिले के हेफ इलाके में घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया था. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों के सुरक्षा बलों पर गोलीबारी करने के बाद तलाशी अभियान मुठभेड़ में बदल गया. अधिकारी ने बताया कि ताजा रिपोर्ट मिलने तक अभियान जारी था, उन्होंने कहा कि अभी तक तीन आतंकवादियों के मारे जाने की खबर है.