गैर कश्मीरी लोगों की हत्या में पूर्व एसपीओ समेत हिज्बुल के दो आतंकवादी शामिल

दक्षिण कश्मीर के शोपियां में दो गैर कश्मीरी लोगों की हत्या और सेब से भरे एक ट्रक को आग लगाने की घटना में हिज्बुल मुजाहिदीन के जिन दो आतंकवादियों का नाम आ रहा है, उनमें पूर्व विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) भी शामिल है जो 2017 में बल छोड़कर भाग गया था। अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि अधिकारियों ने शोपियां के अलग अलग इलाकों में नाजनीनपोरा के रहने वाले पूर्व एसपीओ सैयद नवेद मुश्ताक उर्फ नवेद बाबू और गनापोरा के राहिल मगरे के पोस्टर लगाए हैं और उनको पकड़ने के लिए लोगों से सूचना साझा करने का अनुरोध किया है। उर्दू में लगाए गए पोस्टर में ये दो आतंकवादी हाल में एक बेगुनाह ट्रक चालक और एक व्यापारी की हत्या करने तथा अन्य कारोबारी को जख्मी करने के पीछे हैं। साथ में, उन्होंने ही इस हफ्ते सेब से भरे ट्रक में लगा दी थी। पुलिस ने उनके समूह का जिक्र नहीं किया है लेकिन अधिकारियों ने कहा कि आतंकवादियों का संबंध प्रतिबंधित हिज्बुल मुजाहिदीन से है। उन्होंने बताया कि नवेद 2017 में पुलिस बल को छोड़कर आतंकवादियों के साथ जा मिला था और फिलहाल वह संगठन का जिला कमांडर है। तब वह चार हथियारों के साथ भागा था। वह सेब के किसानों को अपनी फसल भारतीय बाजार में नहीं भेजने के लिए धमकी दे रहा था। अगस्त के शुरू में जम्मू कश्मीर के विशेष राज्य के दर्जे को खत्म करने के तत्काल बाद आतंकवादी चेतावनी शोपियां में पोस्टरों और पर्चों के जरिए दी गई थी। इन पर नवेद उर्फ ‘बाबर आज़म’ के दस्खत थे। दक्षिण कश्मीर में सोमवार को राजस्थान के ट्रक चालक, छत्तीसगढ़ के प्रवासी मजदूर और पंजाब के सेब व्यापारी की शोपियां और पुलवामा में तीन अलग अलग घटनाओं में आतंकवादियों ने हत्या कर दी थी और एक अन्य सेब कारोबारी को गंभीर रूप से जख्मी कर दिया था।