जम्मू कश्मीर सरकार ने डल झील को ईएसजेड घोषित करने के लिए समिति बनाई

जम्मू कश्मीर सरकार ने श्रीनगर की प्रसिद्ध डल झील और उसके आसपास के क्षेत्रों को पारिस्थितकी के लिहाज से संवेदनशील क्षेत्र (ईएसजेड) घोषित करने के लिए एक दस सदस्यीय समिति बनाई है। ड्रेजिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (डीसीआई) ने 2017 में एक आकलन किया था जिसके अनुसार प्रदूषण और अतिक्रमण की वजह से डल झील 22 वर्ग किलोमीटर के मूल आकार से सिकुड़कर करीब 10 वर्ग किलोमीटर की हो गयी है। डीसीआई ने यह भी कहा कि विश्वप्रसिद्ध झील की क्षमता भी कम होकर करीब 40 प्रतिशत रह गयी है और इसके पानी की गुणवत्ता भी खराब हो गयी है। सामान्य प्रशासन विभाग के अतिरिक्त सचिव सुभाष छिब्बर ने कहा, ‘‘डल झील और उसके आसपास के क्षेत्रों को पारिस्थितिकी के लिहाज से संवेदनशील क्षेत्र घोषित करने की अधिसूचना के मसौदे को अंतिम रूप देने के लिए 10 सदस्यीय समिति के गठन को मंजूरी दी गयी है।’’ उन्होंने बताया कि यह समिति एक महीने के अंदर अधिसूचना के मसौदे को अंतिम रूप देगी। समितियों को सभी सुविधाएं आवास और शहरी विकास विभाग प्रदान करेगा।