कश्‍मीर में जमने लगे झरने, गुलमर्ग में माइनस 10 डिग्री पर पहुंच गया पारा

कश्मीर घाटी के कारगिल में खून जमा देने वाली ठण्ड पड़ रही है. मौसम विभाग के मुताबिक कारगिल में तापमान शनिवार से 9.9 नीचे दर्ज किया गया. कड़ाके की ठण्ड के कारण यहाँ लोगों बड़ी मुश्किलों के सामना करना पड़ रहा है. नालों में पानी जम गया है यही नहीं बल्कि बहने वाला पानी भी जमने लगा है. लोगों को पानी के लिए नदी पर जाना पड़ता है. इलाके के लोगों के मुताबिक बिजली भी 24 घण्टों में केवल 8 घंटों तक ही मिल पाती है.

इस साल नवंबर से ही बर्फबारी शुरू हो गई थी. अभी तो चिलायकालानं (ठण्ड के 40 दिन जो दिसंबर 21 से शुरू होते हैं) से पहले ही ठण्ड आ गई है. कारगिल और लेह घाटी कश्मीर से कट गई है. श्रीनगर-लेह रास्ते पर बारी बर्फबारी के कारण ज़ोजिला पास बांध कर दिया गया है. इस रास्‍ते के बंद होते ही कारगिल निवासियों के लिए मुश्किलें शुरू हो जाती हैं. स्थानीय नवासी मुमताज़ अली का कहना है “ज़ोजिला 6 महीने बंद होने से यहां सब्ज़ी नहीं मिलती.

कारगिल और लेह की तरह ही कश्मीर के बाकी के हिस्‍सों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है. लेह में तापमान माइनस 5.9 तो कश्मीर के खूबसूरत पर्यटन स्‍थल गुलमर्ग में सब से कम तापमान माइनस 10.6 दर्ज किया गया है. मौसम विभाग के मुताबिक इस बार वक्‍त से पहले बर्फबारी के कारण ठंड बढ़ गई है.

मौसम विभाग के निदेशक सोनम लोटस के मुताबिक “लेह कारगिल में भी माइनस 9 माइनस 10 के करीब तापमान रिकॉर्ड किया गया है. न्यूनतम तापमान में और गिरावट होने की सम्भावना है, एक दो डिग्री काम होने की सम्भावना है. इस बार नवम्बर के महीने में अच्‍छी बर्फ हुई है.

कश्मीर-लेह रास्ता और मुग़ल रास्ता यातायात के लिए बंद कर दिया गया है. वही देश को कश्मीर से जोड़ने वाला श्रीनगर जम्मू राजमार्ग जो ताज़ा बर्फ के कारण बांध कर दिया गया था आज खुल तो गया, मगर फिसलन होने के कारन केवल उन्हीं गाड़ियों को चलने की अनुमति दी गई, जो रास्‍ते पर फंसी थीं. कश्मीर घाटी में बाकी जगहों पर अगर तापमान की बात करें तो श्रीनगर में माइनस 1, पहलगाम में माइनस 9.7, क़ाज़ीगुंड में माइनस 3.4, कोकरनाग में माइनस 3.8 तापमान दर्ज किया गया.