J&K: जवान औरंगजेब की हत्‍या में शामिल हिजबुल आतंकी शौकत डार पुलवामा में ढेर

जम्‍मू कश्‍मीर के पुलवामा में 48 घंटे बाद एक और एनकाउंटर हुआ। दक्षिण कश्‍मीर के पुलवामा में शनिवार को हुई मुठभेड़ यहां के पंजगाम सेक्‍टर में हुई जो अवंतिपोरा में आता है। इस एनकाउंटर में हिजबुल मुजाहिद्दीन के तीन आतंकियों को ढेर किया गया है। जो तीन आतंकी मारे गए हैं उनमें से एक आतंकी पिछले वर्ष जून में सेना के जवान औरंगजेब की हत्‍या में शामिल था। गुरुवार को भी पुलवामा में एक एनकाउंटर हुआ था। उस एनकाउंटर में तीन आतंकी मारे गए थे जो जैश-ए-मोहम्‍मद से जुड़े थे।

48 घंटे बाद पुलवामा में फिर ढेर तीन आतंकी

अवंतिपोरा के पंजगाम में हुए एनकाउंटर में हिजबुल के आतंकी शौकत डार, इरफान वार और मुजफ्फर शेख को सुरक्षाबलों ने ढेर कर दिया। शौकत डार, उन आतंकियों के ग्रुप का हिस्‍सा था जिसने औरंगजेब का अपहरण किया था। इसके अलावा उसने इस इलाके में सुरक्षाबलों पर कई और हमलों की साजिश रची थी। शौकत, पंजगाम का ही रहने वाला था। बाकी दो आतंकी इरफान सोपोर के वाडूरा पायेन और मुजफ्फर पुलवामा के तहाब का रहने वाला था।

कई पुलिस वालों की भी ली थी जान

जम्‍मू कश्‍मीर पुलिस की ओर से बताया गया है, ‘डार उस ग्रुप में शामिल था जिसने साल 2018 में सेना के जवान औरंगजेब की हत्‍या की थी। उसने पुलिसमैन आकिब अहमद वागे की भी पिछले वर्ष हत्‍या की थी। इसके अलावा उसके खिलाफ कई क्राइम केस भी दर्ज थे।’औरंगजेब की पिछले वर्ष जून में उस समय हत्‍या कर दी गई थी जब वह ईद की छुट्टियों पर अपने घर जा रहे थे। औरंगजेब अपने कैंप से पुंछ के लिए रवाना हुए थे, जहां पर उनका घर है और तभी उनका अपहरण कर लिया गया था।