कश्‍मीर: विरोध जताने एमएलए हॉस्‍टल में कंबल, हीटर लेकर पहुंचे राजनीतिक बंदियों के रिश्‍तेदार

श्रीनगर के एमएलए हॉस्‍टल में रखे गए 33 राजनैतिक बंदियों में से कुछ के परिवारवाले बुधवार को उनके लिए सर्दी दूर करने की रोजमर्रा की चीजें लेकर पहुंचे। इस तरह से उन्‍होंने प्रशासन की बदइंतजामी के खिलाफ अपना विरोध प्रकट किया। इन लोगों को जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 हटाने के बाद 5 नवंबर से हिरासत में रखा गया है।

यहां बंद लोगों से मिलने आने वाले कम से कम एक दर्जन मुलाकाती अपने साथ रूम हीटर, हॉट वॉटर बैग, कंबल और बिजली से चलने वाले दूसरे उपकरण लेकर पहुंचे। इन लोगों का आरोप है कि हॉस्‍टल में रखे गए लोगों को बुनियादी सुविधाएं नहीं दी जा रही हैं।

बंदियों की जरूरतों की अनदेखी का आरोप
पूर्व पीडीपी मंत्री नईम अख्‍तर की बेटी शहरयार और पीडीपी लीडर नजीमुद्दीन बट के बेटे मेहराज ने अधिकारियों पर बंदियों की जरूरतों की अनदेखी करने का आरोप लगाया। उन्‍होंने मांग की कि एमएलए हॉस्‍टल में गर्मी बनाए रखनी पर्याप्‍त सुविधाएं उपलब्‍ध कराई जाएं। सरताज मदनी और एएम सागर जैसे राजनीतिक नेताओं के संबंधियों ने भी इस मांग का समर्थन किया।

पहले होटल में थे, सर्दी की वजह से शिफ्ट किए
दूसरी तरफ, अधिकारियों ने आरोपों को दरकिनार करते हुए कहा है कि बंदियों को पर्याप्‍त सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं। इनमें सामान्‍य कंबलों के अलावा एक इलेक्ट्रिक कंबल और एक बिजली का हीटर शामिल है। इसके अलावा गर्म रखने के लिए बिस्‍तरों की भी उचित व्‍यवस्‍था है। गौरतलब है कि शुरू में इन सभी डल लेक के किनारे बने होटल में रखा गया था लेकिन बाद में बढ़ती सर्दी को देखते हुए इन्‍हें एमएलए हॉस्‍टल में शिफ्ट कर दिया गया।