सेना ने शुरू किया ‘डल झील’ सफाई अभियान, 21 दिन तक झील को साफ करेंगे जवान

सेना ने कश्मीर का ताज माने जाने वाली डल झील साफ करने की ठानी है. मंगलवार से 21 दिनों तक सेना का यह सफाई अभियान इस झील में चलेगा और उम्मीद की जा रही है कि 21 दिनों के बाद झील की एक नई तस्वीर देखने को मिलेगी.

बता दें करीब पिछले चार दशकों से डल झील को साफ करने के कई तरीके अपने गए है. इसके लिए वर्ल्ड बैंक से करोड़ों रुपए लेकर इस में सफाई अभियान चलाए गए. बड़ी-बड़ी नवीनतम मशीनें खरीदी गईं मगर झील में सुधार नहीं दिखा. आंकड़ों के मुताबिक अब तक डल झील को साफ़ करने के लिए 600 करोड़ के करीब पैसा खर्च किया गया है मगर हाथ कुछ नहीं लगा.

झील की हालत बिगड़ती देख कुछ महीने पहले तबके राजयपाल ने एक उच्च स्तरीय बैठक में यह फैसला लिया कि इस झील में सफाई अभियान को अब सेना और नौ सेना के सहयोग से चलाया जाएगा.

सेना ने मंगलवार से 21 दिनों के पहले चरण की शुरुआत की है. मंगलवार को श्रीनगर के बुलवार्ड रोड पर झील के किनारे सुबह से ही सेना के दर्जनों जवान अपनी बोटस और ड्रेजिंग मशीन लेकर सफाई करते दिखे. यह जवान छोटे-छोटे ग्रुप में बोट में सवार होकर झील के बीच जाकर इस में उगने वाली घास को काटते और नदी साफ करते दिखाई दिए.

सेना के अधिकारी के मुताबिक, ‘यह अभियान श्रीनगर नगर निगम और लक्स एंड वाटर वेज़ के अनुरोध पर चलाया गया है उनकी सहायता के लिए हम यह काम कर रहे है, इस अभियान का पहला चरण 21 दिनों चलेगा.’

शेख इमरान, डिप्टी मेयर श्रीनगर नगर निगम का कहना है कि सेना का सहयोग मिलना बेहद अच्छी बात है. उन्होंने उम्मीद जताई कि 21 दिन बाद इस झील में बदलाव देखने को मिलेगा. शेख इमरान ने कहा कि ‘सेना ने अपनी मशीनरी लगाई है और डल झील को साफ़ करने में यह हमारी मदद कर रहे है.