कश्मीर में कोविड-19 से दूसरी मौत के बाद मचा हड़कंप, सारे बॉर्डर सील

कश्मीर में रविवार को कोविड-19 से दूसरी मौत होने के बाद राज्य में हड़कंप मच गया। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए केंद्र शासित प्रदेश में लोगों की आवाजाही और एकजुट होने पर पाबंदियां और सख्त कर दी गईं। इससे पहले शनिवार को यहां 13 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी।
अधिकारियों ने बताया कि बारामूला जिले के तंगमार्ग इलाके का निवासी शनिवार को एसएमएचएस अस्पताल में कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था। यहां उसका इलाज चल रहा था। उन्होंने बताया कि संक्रमण की पुष्टि होने के बाद बुजुर्ग को चेस्ट डिसीज हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया लेकिन रविवार सुबह उसकी मौत हो गई।

केंद्रशासित प्रदेश में वैश्विक महामारी के कारण मृतकों की संख्या दो हो गई है। इससे पहले गुरुवार को 65 वर्षीय एक व्यक्ति की कोरोना वायरस के चलते मौत हो गई थी। शनिवार को करीब 13 लोगों के घातक वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई जिसके बाद जम्मू-कश्मीर में कुल मामले 33 हो गए। केंद्रशासित प्रदेश में एक दिन में सामने आए ये सबसे ज्यादा मामले हैं। जम्मू-कश्मीर में 29 लोग अब भी संक्रमण की चपेट में हैं जबकि दो मरीज स्वस्थ हो गए हैं।

अधिकारियों ने बताया कि कश्मीर में लोगों के आवागमन और एकजुट होने पर रविवार को लगातार 11वें दिन प्रतिबंध जारी रहे। उन्होंने बताया कि वायरस के फैलने पर लगाम लगाने के उद्देश्य से लोगों की आवाजाही सीमित कर दी गई है। इसके लिए समूची घाटी में पाबंदियां लगा दी गई हैं। ये सख्त प्रतिबंध रविवार तड़के कोविड-19 के दूसरे मरीज की मौत के मद्देनजर लगाए गए हैं। घाटी की ज्यादातर सड़कों को सील कर दिया गया है और सुरक्षा बलों ने विभिन्न स्थानों पर बैरीकेटिंग लगा दिए हैं।

प्रशासन ने लोगों से लॉकडाउन में सहयोग करने की अपील की और निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी दी है। धर्म गुरुओं ने लोगों से घर पर ही नमाज पढ़ने और मस्जिद न जाने की अपील की।