किरण रिजिजु ने गांदरबल में राष्ट्रीय एकता शिविर में भाग लिया

केंद्रीय युवा मामले एवं खेल राज्य मंत्री किरण रिजिजु और सचिव युवा सेवा एवं खेल सरमद हफीज ने आज राष्ट्रीय एकता शिविर में युवाओं के साथ चर्चा सत्र में भाग लिया, जो एकता, सांप्रदायिक सद्भाव, राष्ट्रीय एकता, फिट इंडिया और नए भारत के निर्माण में अपनी सक्रिय भागीदारी के लिए युवाओं को प्रेरित और मार्गदर्शन करने के लिए गवर्नमेंट फिजिकल एजुकेषन काॅलेज गडूरा, गांदरबल द्वारा आयोजित किया गया था।
प्रसिद्ध ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ के अभियान के तहत, नेहरू युवा केंद्र संगठन द्वारा जिला प्रशासन गांदरबल के सहयोग से राष्ट्रीय एकता शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें 10 राज्यों और जम्मू-कश्मीर के 250 युवा भाग ले रहे हैं।
इस अवसर पर आईजीपी कश्मीर विजय कुमार, उपायुक्त गांदरबल षफकत इकबाल, एसएसपी गांदरबल खलील पोसवाल, महानिदेशक युवा सेवा और खेल सलीम उर रहमान, अतिरिक्त उपायुक्त गांदरबल फारूख अहमद बाबा, निदेशक राज्य नेहरू युवा केंद्र संगठन, उप निदेशक नेहरू युवा केंद्र संगठन, प्रमुख सरकारी शारीरिक शिक्षा कॉलेज और अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।
इस अवसर पर बोलते हुए, किरण रिजिजु ने कहा कि मेरे लिए बहुत उत्साह की बात है कि यहां बहुत सारे युवा एकत्रित हुए हैं जो देश के विभिन्न हिस्सों से हैं। हमारी संस्कृति और परंपरा में विविधता और समृद्धि को समझने के लिए, राष्ट्रीय एकता शिविर इसके लिए सबसे अच्छा तरीका है और इस संबंध में प्रधान मंत्री ने हमें इस तरह के शिविरों के आयोजन के लिए विशिष्ट निर्देश दिए हैं।
जम्मू-कश्मीर में खेल ढांचे के विकास पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि प्रधान मंत्री विकास पैकेज के तहत, जम्मू व कश्मीर में विभिन्न खेल ढांचे बनाए गये हैं, जिनमें से कुछ परियोजनाओं का उद्घाटन पहले ही हो चुका है और विभिन्न खेल सुविधाएं प्रगति पर हैं।
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कश्मीर के युवाओं में बहुत प्रतिभा है और हम उन्हें राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए सभी सुविधाएं प्रदान करने के लिए काम कर रहे हैं। इसके अलावा, हमारी सरकार जम्मू-कश्मीर के युवाओं के बीच प्रतिभा को पहचानने के लिए भी काम कर रही है, जिन्हें ओलंपिक के लिए तैयार करने के लिए राष्ट्रीय शिविर में प्रशिक्षण और आवास सहित सभी सुविधाएं दी जाएंगी।
इस अवसर पर सरमद हफीज ने उपायुक्त गांदरबल को इस कार्यक्रम का उद्घाटन करने के लिए बधाई दी और राष्ट्रीय एकता शिविर में भाग लेने के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि इन शिविरों के माध्यम से सच्ची शिक्षा प्राप्त की जाती है क्योंकि हम ऐसे लोगों से मिलते हैं जिनके पास विभिन्न संस्कृति, धर्म और परंपराएं हैं जो अनुभव की सच्ची सीख हैं और यह भारत की विविध और सुंदर संस्कृति को समझने का सही अवसर है।
जिले में खेल गतिविधियों को प्रोत्साहन देने के लिए उन्होंने कहा कि फिजिकल कॉलेज गडूरा में और अधिक खेल सुविधाएं आ रही हैं, जिनमें से कुछ का टेंडर हो गया है और अगले 6 महीनों में सिंथेटिक एथलेटिक ट्रैक यहां विकसित किया जाएगा जो कि केंद्र षासित प्रदेष जम्मू-कश्मीर में अपनी तरह का पहला केंद्र होगा। इसके अलावा सिंथेटिक फुटबॉल टर्फ भी यहां विकसित किया जाएगा।
उपायुक्त ने इस अवसर पर बोलते हुए कहा कि यह जिले के लिए गर्व की बात है कि प्रतिभागियों के माध्यम से अन्य राज्यों के विचारों, संस्कृति और परंपरा को समझने के लिए यहां इस तरह के शिविर का आयोजन किया जाता है। इसके अतिरिक्त उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन जिले में खेल संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए सभी प्रयास कर रहा है और इस संबंध में जिला प्रशासन जिले की सभी 126 पंचायतों में खेल मैदान बनाने के लिए काम कर रहा है। उन्होंने जिले में युवा छात्रावास और एनवाईके कार्यालय की आवश्यकता पर भी प्रकाश डाला।
इसके उपरांत, फिट इंडिया कैम्पेन के तहत गांदरबल और श्रीनगर जिले के युवा क्लबों/महिला मंडलों से आये 250 से अधिक युवाओं को खेल सामग्री किट वितरित किये गये।
इस अवसर पर, प्रतिभागियों द्वारा नृत्य प्रदर्शन और सांस्कृतिक प्रतिभा का प्रदर्शन किया गया, जिसे दर्शकों ने सराहा।