हुर्रियत नेता मीरवाइज बोले, एससीओ समिट में भारत-पाक बातचीत की करें पहल

हुर्रियत कांफ्रेंस ने भारत और पाकिस्तान को अपने रिश्तों में आई कड़वाहट को दूर करके फिर से एक-दूसरे के साथ वार्ता की दिशा में कदम बढ़ाने की वकालत की है। उन्होंने कहा कि भारतीय और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री बिश्केक में शंघाई कोआपरेशन आर्गेनाइजेशन (एससीओ) शिखर सम्मेलन का फायदा उठाते हुए एक दूसरे से बातचीत की दिशा में आगे बढ़ने की पहल करें।

हुर्रियत (एम) प्रमुख मीरवाइज उमर फारूक ने एक बैठक के बाद कहा कि हम इस बात को फिर से दोहराते हैं कि आगे बढ़ने और कश्मीर में दर्दनाक रक्तपात को रोकने के लिए राजनीतिक संवाद सबसे प्रभावी तरीका है।

हम भारत-पाकिस्तान के नेतृत्व से रिश्तों में जमी बर्फ  को पिघलाने और एक-दूसरे से जुड़ने का आग्रह करते हैं। हुर्रियत कांफ्रेंस घाटी में खूनखराबे और हत्याओं को लेकर चिंतित और दुखी है। कश्मीर के लोग दशकों से चले आ रहे इस संघर्ष के नतीजों को भुगत रहे हैं।