उमर का राम माधव को जवाब: गठजोड़ के पीछे पाकिस्तान की मंशा को साबित करो या माफी मांगो

जम्मू-कश्मीर में पीडीपी, नेकां और कांग्रेस की सरकार के लिए किए जा रहे गठजोड़ को भारतीय जनता पार्टी ने सीमा पार से मिला निर्देश करार दिया। वहीं, यह बात नेकां के उप प्रधान और जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला को बिल्कुल अच्छी नहीं लगी। उन्होंने राम माधव को सीधे-सीधे चुनौती दे डाली कि वो या तो अपने आरोप साबित करें या फिर माफी मांगे।राम माधव ने यह भी आरोप लगाया कि पीडीपी प्रधान महबूबा मुफ्ती कह रही हैं कि राज्यपाल ने सरकार बनाने के उनके फैक्स और फोन का जाब नहीं दिया, वास्तव में उन्होंने गवर्नर को ऐसा कोई संदेश नहीं दिया था। राम माधव के यह सारे आरोप उमर अब्दुल्ला को नागवार गुजरे। उन्होंने टवीट् कर माधव से माफी मांगने को कहा है।

उमर ने टवीट् में कहा है कि राम माधव, मैं आपको चुनौती देता हूं कि आरोप साबित करो। रॉ, एनआईए और आईबी आपके अधिकार में हैं (सीबीआई तुम्हारा तोता है), तो तुम्हारे पास पब्लिक में सबूत रखने का दम होगा। या तो अपने आरोप को साबित करो, अन्यथा माफी मांगो। अंधेरे में तीर चलाने वाली राजनीति मत करो। उन्होंने आगे कहा, “आप दावा कर रहे हो कि मेरी पार्टी का पाकिस्तान से लिंक है। साबित करो। तुम कहते हो कि मेरी पार्टी ने चुनाव बहिष्कार पाकिस्तान के कहने पर किया है, साबित करो। मेरी तुम्हें खुली चुनौती है।”