जम्मू-कश्मीर में फरवरी में हो सकते हैं पंचायत चुनाव, 36 केंद्रीय मंत्री करेंगे दौरा

जम्मू-कश्मीर में ग्राम पंचायतों के पंच और सरपंच के करीब 13,000 खाली पदों के लिए फरवरी में चुनाव हो सकते हैं। अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि इस संबंध में 25 जनवरी को अधिसूचना जारी किए जाने का अनुमान है। यदि ये चुनाव हुए तो जम्मू-कश्मीर में धारा 370 के प्रावधानों को खत्म करने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के बाद वहां ये पहले चुनाव होंगे।
गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि ग्राम पंचायतों में पंच और सरपंच के करीब 13,000 खाली पदों के लिए अगले महीने चुनाव हो सकते हैं और इस बारे में 25 जनवरी को अधिसूचना जारी किए जाने का अनुमान है। चुनाव की पूरी प्रक्रिया फरवरी में ही संपन्न होने का अनुमान है। ये पद पिछले साल नवंबर से खाली हैं, जब वहां स्थानीय निकाय चुनाव हुए थे।

कश्मीर में पंच और सरपंच के 20,093 पदों में 12,500 से अधिक सीटें खाली हैं। इससे पहले 2018 में हुए स्थानीय निकाय चुनावों का नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी ने बहिष्कार किया था।

चुनाव से पहले शनिवार से गुरुवार 36 केंद्रीय मंत्री राज्य में जाएंगे। केंद्रीय गृहराज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने बताया है कि इस दौरे का मकसद आर्टिकल 370 को हटाए जाने के बाद लोगों के बीच जागरूकता फैलाना है। रेड्डी ने बताया, ‘मैं कश्मीर के स्कूलों, कॉलेजों और अस्पतालों में जाऊंगा। हम उन्हें प्रशासन ने पिछले 5 महीने में जो विकासकार्य किए हैं, उनके बारे में बताएंगे।’