श्रीनगर के डिप्टी कमिश्नर ने कहा- लद्दाख से आने वाले सभी हवाई यात्रियों को क्वारंटाइन किया जाएगा

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए कश्मीर प्रशासन ने बड़ा फैसला लिया है. अब लदाख से आने वाले सभी लोगो को घाटी में पहुंचते ही कोरांटाइन किया जाएगा. यह फैसला लद्दाख में संक्रमण के आठ मामले सामने आने के बाद लिया गया है.

श्रीनगर के डिप्टी कमिश्नर शाहिद चौधरी ने जानकारी देते हुए कहा कि लद्दाख से आने वाले सभी लोगों को कश्मीर घाटी में आने पर सीधे आइसोलेशन वार्ड में भेजा जाएगा और टेस्ट रिपोर्ट आने तक वहीं रोका जाएगा.

बुधवार को लेह से आने वाली एक एयर ईंडिया की फ्लाइट को ईसी कारन वापस भेज दिया गया. इस फ्लाइट में 25 विदेशी पर्यटकों को लेह में जहाज़ से उतारा गया जबकि बाकी बच्चे 81 लोगो को श्रीनगर पहुचते ही आइसोलेशन वार्ड में भेज दिया गया.

अधिकारियो के मुताबिक इन 81 लोगों को श्रीनगर के डल गेट में दो होटल में रोका गया है, जिनको सरकार कि तरफ से आइसोलेशन वार्ड घोषित किया गया है. इनमें एक नीजि होटल और एक जम्मू-कश्मीर पर्यटन विभाग का होटल है. लदाख में पिछले 24 घंटो में कोरोना संक्रमण के दो अन्य मामले सामने आए हैं. इन मामलों में सेना का एक जवान भी शामिल है. इसके साथ ही कोरोना वायरस से संक्रमित लोगो की संख्या यहां आठ हो गई है जबकि अभी भी 72 लोगो के टेस्ट रिपोर्ट का इन्तिज़ार है.

लद्दाख से संक्रमण कश्मीर घाटी न पहुंच सके इसलिए प्रशसन ने बर्फ हटाये जाने के बावजूद भी श्रीनगर लेह राजमार्ग को मार्च के अंत तक नहीं खोलने का फैसला लिया था और अब हवाई जहाज़ के ज़रिये आने वालो को के लिए भी क्वारंटाइन आवश्यक कर दिया है.