ऑल वेदर रोड पर लैंड स्लाइड, सभी सात मृतक जम्मू के रहने वाले

उत्तराखंड की महत्वाकांक्षी सड़क परियोजना ऑल वेदर रोड निर्माण के दौरान उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में शुक्रवार को एक बड़ा हादसा हो गया. निर्माण कार्य के दौरान अचानक हुए भूस्खलन होने की वजह से कई मजदूर मलबे के नीचे दब गए. इनमें से सात मजदूरों के शव और चार घायलों को मलबे से निकाल लिया गया, जबकि एक मजदूर अभी लापता बताया रहा है. चार घायलों में से दो की हालत गंभीर है, उन्हें हेलीकॉप्टर से ऋषिकेश स्थित एम्स लाया गया है. सभी मृतक जम्मू के रहने वाले हैं. प्रशासन उनके पते जुटाने की कोशिश कर रहा है.

हादसा शुक्रवार दोपहर साढ़े 12 बजे रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाईवे पर बांसवाड़ा के पास एक पहाड़ी का हिस्‍सा टूट गया और मलबा सड़क पर आ गया. रुद्रप्रयाग जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल, एसएसपी और अन्य प्रशासनिक अधिकारी सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे. डीएम ने जानकारी दी की हादसे की सूचना मिलते ही रेस्कयू दल मौके पर रवाना कर दिया गया था. उन्होंने बताया कि भूस्खलन की चपेट में आए कुल 23 मजदूरों में से 12 ने मौके से भागकर जान बचा ली थी, जबकि 11 मजदूरों में से सात की मौत हो गई है. उनके शव मलबे से निकाल लिए गए हैं. इसके साथ ही चार घायल मजदूरों को भी मलबे से निकाला गया है. इनमें से दो गंभीर रूप से घायलों को हेलीकॉप्टर के जरिये ऋषिकेश एम्स भेजा गया, जबकि दो अन्य घायलों को जिला अस्पताल भेजा गया है. एक अन्य अभी लापता है. उन्होंने बताया कि प्रशासन और रेस्क्यू टीम मौके पर मौजूद है. अभी एक मजदूर लापता बताया जा रहा है. रेस्क्यू दल लगातार मलबा हटाकर फंसे हुए मजदूरों को निकालने में जुटा है. उन्होंने बताया कि सभी मजदूरक जम्मू के रहने वाले बताये जा रहे हैं.

उधर, मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने रुद्रप्रयाग जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 109 के भीरी व बांसवाड़ा के मध्य भूस्खलन हादसे पर गहरा दुख व्यक्त किया. उन्होंने हादसे में मृतक श्रमिकों की आत्मा की शांति व शोक संतप्त परिवारजनों को धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से कामना की. मुख्यमंत्री के निर्देश पर सचिव नागरिक उड्डयन दिलीप जावलकर द्वारा तुरंत घटनास्थल पर हैलीकाप्टर भेजा गया. हैलीकाप्टर से गम्भीर रूप से घायल 2 श्रमिकों को उपचार के लिए एम्स ऋषिकेश लाया गया है.

वहीं, राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने रूद्रप्रयाग जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 109 पर भीरी व बांसवाड़ा के मध्य भूस्खलन की घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है. उन्होंने दुर्घटना में मृतकों की आत्मा की शांति व शोक संतप्त परिवारजनों को धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से कामना की है. उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना भी की है.

मृतकों का विवरण

1-बिलाल, उम्र 20 वर्ष, निवासी उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर
2-सिब्बीर, उम्र 30 वर्ष, निवासी बगना, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर
3-अब्दुल, रशीद उम्र 60 वर्ष निवासी उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर
4-इम्तियाज, अहमद उम्र 26 वर्ष, निवासी हथलंगा, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर
5-मुश्ताक अहमद, उम्र 30 वर्ष, निवासी उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर
6-जूर हामिद शेख, उम्र 30 वर्ष, निवासी उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर
7-गुलज़ार, उम्र 20 वर्ष, निवासी उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर
घायलों का विवरण
1-अलताफ हाजम पुत्र गुलाम कादर हासन, ग्राम हथलंगा, तहसील उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर, उम्र 55 वर्ष
2-अब्बास पुत्र सुबान शेखग्राम हथलंगा, तहसील उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर, उम्र 20 वर्ष
3-अल्ताफ हुसैन निवासी ग्राम मौंथल, तहसील उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर, उम्र 45 वर्ष