जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग 13 घंटे बाद खुला, फंसे वाहनों को निकाला जा रहा

जम्मू क्षेत्र के रामबन जिले के डिगडोल में ताजा भूस्खलन और शूटिंग के बाद मंगलवार को बंद हुआ जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग 13 घंटे बाद वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया गया। फिलहाल उन्हीं वाहनों को श्रीनगर की आेर भेजा जा रहा है जो सुबह से फंसे हुए हैं। डिगडोल में मुख्य सड़क पर गिरे मलवे को हटा दिया गया है।

एसएसपी नेशनल हाईवे, जितेंद्र सिंह जौहर ने कहा कि डिगडोल में ताजा भूस्खलन के बाद सड़क को वाहनों के लिए बंद कर दिया गया था। वाहनों की आवाजाही बंद होने के बाद लोगों ने इसे पैदल पार करने का प्रयास किया परंतु पहाड़ों से गिरते पत्थर खतरे का सबब बन रहे थे। इसे देखते हुए मुख्य मार्ग के पूरी तरह सुरक्षित होने तक लोगों का पैदल गुजरना भी बंद कर दिया गया।

सुबह से जारी मलवा हटाने का काम शाम को पूरा कर लिया गया। फिलहाल यह मार्ग एक तरफा खोला गया है। जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर रात से ही हजारों लोग फंसे हुए हैं। रास्ता खुलते ही सबसे पहले उन्हें निकाला जा रहा है। सभी वाहन निकलने के बाद दूसरे वाहनों को सड़काें पर उतरने की इजाजत दी जाएगी।

सनद रहे कि डिगडोल में पिछले एक सप्ताह के दौरान कई बार भूस्खलन हो चुका है। यही वजह है कि आए दिन राजमार्ग को वाहनों के लिए बंद करना पड़ रहा है।  एसएसपी ने लोगों से अपील की कि वह ट्रैफिक विभाग की क्लीयरेंस के बिना सड़कों पर न उतरें। इसके साथ ही उन्होंने राजनीतिक व सामाजिक संगठनों से भी किसी मुद्दे को लेकर राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात बाधित न करने के लिए कहा।

उन्होंने बताया कि सड़क पर गिरे मलवे को हटाने का काम युद्ध स्तर पर जारी है। परंतु पहाड़ों से गिर रहे पत्थर खतरे का सबब बन रहे हैं।