रियाज नायकू के मारे जाने के बाद पुलवामा में पत्थरबाजी की छिटपुट घटनाएं

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों के साथ एक मुठभेड़ में मारे गए हिज्बुल मुजाहिदीन के शीर्ष कमांडर रियाज नायकू के गृहनगर पुलवामा जिले के अवंतीपुरा में बृहस्पतिवार को पत्थरबाजी की छिटपुट घटनाएं हुईं। पत्थरबाजी की ये घटनाएं ऐसे समय में हुई हैं, जब घाटी के कई हिस्सों में एहतियात के तौर पर कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध लागू हैं। बुधवार को अवंतीपुरा के बेगपुरा क्षेत्र में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में आतंकवादी नायकू और उसका एक साथी मारा गया था। इसके बाद प्रशासन ने मोबाइल टेलीफोन और इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी थीं। नायकू के मारे जाने की खबर आने के बाद श्रीनगर समेत घाटी के ज्यादातर हिस्सों में पाबंदियां लागू हैं। अधिकारी ने बताया कि कश्मीर में कोरोना वायरस महामारी की वजह से बंद का तीसरा चरण लागू है। घाटी के कई संवेदनशील इलाकों में शांति सुनिश्चित करने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं। अधिकारियों ने बताया कि बृहस्पतिवार तड़के से अवंतीपुरा में नायकू के पैतृक गांव के आस-पास युवाओं के कुछ समूहों द्वारा पत्थरबाजी करने की खबर आई है। उन्होंने बताया कि बुधवार को भी इसी तरह की पत्थरबाजी की घटनाएं हुई थीं, जिसमें 16 लोग घायल हो गए। चार घायलों को गोली लगी थी।