सुप्रीम कोर्ट ने भी मानी जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट की बात, कहा- हिरासत में नहीं है राज्य का कोई बच्चा

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 के अंत के बाद नाबालिगों को हिरासत में लिए जाने के आरोपों पर जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट को अपनी रिपोर्ट सौंपी है। जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट की किशोर न्याय समिति ने सुप्रीम कोर्ट में अपनी रिपोर्ट देते हुए कहा है कि किसी भी बच्चे को राज्य में हिरासत में नहीं रखा गया है। हाई कोर्ट के 4 जजों ने इस संबंध में अपनी रिपोर्ट सीलबंद लिफाफे में सुप्रीम कोर्ट को सौंपी है।
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हाई कोर्ट के 4 जजों के दल ने राज्य की सभी जेलों का दौरा करते हुए अपनी जांच रिपोर्ट बनाई थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट में दायर किया गया। इस रिपोर्ट पर विश्वास जताते हुए सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस एनवी रमन्ना, जस्टिस आर सुभाष रेड्डी और जस्टिस बी आर गवई की खंडपीठ ने कहा कि वह हाई कोर्ट के जजों की जांच रिपोर्ट से पूरी तरह से संतुष्ट हैं।