कश्मीर में लश्कर के दो ओजीडब्ल्यू गिरफ्तार, हथियार व गोला बारूद बरामद, आतंकियों की कराते थे घुसपैठ

मध्य कश्मीर के गांदरबल जिले में पुलिस ने आतंकी संगठन लश्कर-ए-ताइबा के दो ओवर ग्राउंड वर्करों (ओजीडब्ल्यू) को गिरफ्तार कर उनके पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद किया है। पुलिस इसे बड़ी कामयाबी बता रही है। गांदरबल के एसएसपी खलील पोसवाल के अनुसार, पिछले महीने नारानाग में मारे गए आतंकियों के ग्रुप को इन्हीं ओजीडब्ल्यू ने घुसपैठ में मदद की थी। इनकी शिनाख्त चांदी खटाना और वाजिद खटाना के तौर पर हुई है। यह दोनों जम्मू संभाग के राजोरी जिले के दुंगिग्राथी इलाके के रहने वाले हैं।

दोनों के पास से दो एके 47 राइफल, चार ग्रेनेड, चार मैगजीन और 120 कारतूस भी बरामद हुए हैं। पोसवाल ने एक सवाल के जवाब में बताया कि नारानाग में जो कुछ दिन पहले आतंकी मारे गए थे उन आतंकियों को यही ओजीडब्ल्यूद्ध लाए थे। 

गौरतलब है कि सेना और जम्मू कश्मीर पुलिस ने एक विशेष इनपुट के आधार पर पिछले माह के अंत में गांदरबल जिले के नारानाग के जंगल में सर्च ऑपरेशन चलाया था। इस दौरान 27 सितम्बर को रात करीब साढ़े आठ बजे आतंकियों के साथ पहला कांटेक्ट हुआ था जिसमें एक आतंकी को मार गिराया गया था। 

उसके बाद इलाके में बड़े पैमाने पर ऑपरेशन को जारी रखा गया और तीसरे दिन एक अन्य आतंकी को ठिकाने लगाया लगाने में सफलता हाथ लगी। जिस इलाके में यह ऑपरेशन चल रहा था वह काफी नारनाग के ऊपरी इलाके में स्थित गंगबल लेक से काफी दूर दुर्गम जंगली इलाका है। वहां पहुंचने के लिए नारानाग से करीब 7 घंटे पैदल चलना पड़ता है।