लद्दाख में कोरोना वायरस से मौत के कयासों को प्रशासन ने खारिज किया

लद्दाख में एक 52 वर्षीय व्यक्ति की कोरोना वायरस से मौत की अटकलों के बीच केन्द्र शासित प्रदेश ने कहा कि उस व्यक्ति की मौत फेफड़े में क्षयरोग के कारण हुई और हाल ही में उसका लद्दाख से बाहर की यात्रा का कोई इतिहास नहीं है। प्रशासन ने यह भी कहा कि सांस में तकलीफ से पीड़ित एक और व्यक्ति को इलाज के लिये दिल्ली भेजा गया है जबकि ऐसे ही लक्षण वाले तीसरे रोगी को एकांत में रखा गया है। लद्दाख के स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय ने बयान में कहा कि फ्यांग गांव के निवासी 52 वर्षीय व्यक्ति को खांसी, सांस लेने में तकलीफ और बुखार के बाद 27 जनवरी को यहां अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बयान में कहा गया है कि यह फेफड़ों में क्षयरोग (टीबी) का मामला था। रोगी और उसके परिवार की हाल ही में लद्दाख से बाहर की यात्रा का कोई इतिहास नहीं है। पांच फरवरी को रोगी की मौत हो गई थी। इससे पहले कयास लगाए जा रहे थे कि उस व्यक्ति की मौत कोरोना वायरस के चलते हुई।