लद्दाख: करीब 150 दिन बाद करगिल से हटा इंटरनेट बैन

एक ओर जहां नागरिकता संशोधन कानून के बाद देश के अलग-अलग हिस्सों में हुई हिंसा को देखते हुए इंटरनेट बंद कर दिया गया, वहीं करीब 150 दिन से इंटरनेट बैन झेल रहे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के कुछ इलाकों से शुक्रवार को इंटरनेट बैन हटा लिया गया। ताजा जानकारी के मुताबिक जम्मू-कश्मीर राज्य से अलग होकर केंद्र शासित प्रदेश बने लद्दाख के करगिल और द्रास में इंटरनेट से प्रतिबंध हटा दिया गया है।
गौरतलब है कि 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के साथ ही जम्मू-कश्मीर से राज्य का दर्जा वापस ले लिया गया था और लद्दाख के साथ ही उसको केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया था। आर्टिकल 370 के तहत इलाके को विशेष अधिकार मिले थे जिन्हें वापस ले लिया गया। ऐसी स्थिति में किसी अप्रिय घटना की संभावना को रोकने के लिए इंटरनेट बैन कर दिया गया था जिसका विरोध अभी भी जारी है।

बता दें कि लद्दाख में मोबाइल और ब्रॉडबैंड सेवाएं पहले ही बहार कर दी गई थीं और अब इंटरनेट भी चालू कर दिया गया है। हमारे सहयोगी चैनल टाइम्स नाउ के मुताबिक सरकारी सूत्रों के हवाले से यह जानकारी मिली है कि करगिल में शांतिपूर्ण हालात बने रहने के चलते इंटरनेट सेवा चालू कर दी गई है।