जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाइवे पर फिर हुआ भूस्खलन, रास्ता बंद होने से हजारों यात्री फंसे

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर फिर शुक्रवार को पांच भूस्खलन हुए और यह लगातार पांचवें दिन भी बंद रहा जिससे विभिन्न स्थानों पर 1500 वाहन फंस गए हैं। अधिकारियों ने बताया कि रामबन जिले के गंगरु, रामसू, पोंटियाल और अनोखी क्षेत्रों में भूस्खलन हुआ। रामसू बीजीओ कार्यालय के समीप राजमार्ग का एक हिस्सा धंस गया। राजमार्ग पर से मलबा हटाने और उसे यातायात के लायक बनाने के लिए बीआरओ के कर्मियों और मशीनों को लगाया गया है।

इस कार्य की निगरानी कर रहे उपाधीक्षक (राजमार्ग) प्रदीप सिंह ने कहा कि शेरबीबी में पहले हुए भूस्खलन के मलबे को हटा दिया गया है, लेकिन बाकी जगह यह काम चल रहा है। उन्होंने बताया कि रामसू में बीजीओ कार्यालय के समीप राजमार्ग का एक हिस्सा धंस गया। मरम्मत के बाद उसे पहले एकतरफा यातायात के लायक बनाया जाएगा।

महानिरीक्षक (यातायात) आलोक कुमार ने बताया कि रामबन खंड में राजमार्ग पर छह स्थानों पर या तो भूस्खलन हुआ या फिर पहाड़ों की चोटियों से बड़ा शिलाखंड लुढ़ककर राजमार्ग पर आ गया। शिलाखंड आने से मलबे को हटाने में दिक्कत आ रही है। अधिकारियों के अनुसार राजमार्ग बंद होने के कारण कठुआ, जम्मू, उधमपुर, चेनानी, पटनीटॉप, रामबन, बटोटे बनिहाल क्षेत्रों में 1500 वाहन फंसे हुए हैं जिनमें ज्यादातर ट्रक हैं। अधिकारियों के मुताबिक किश्तवाड़ में पद्दार के चशोटी इलाके में एक बड़ा हिमस्खलन भी हुआ है। इस घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है।