हिमाचल में ताजा बर्फबारी, कश्मीर में न्यूनतम तापमान -11 डिग्री सेल्सियस पहुंचा

देश भर में मौसम के बदले मिजाज से जीवन अस्त व्यस्त है। जहां ओर पहाड़ों पर भारी बर्फबारी हो रही है। वहीं दूसरी ओर मैदानी इलाके बारिश और शीतलहर की मार झेल रहे हैं। बुधवार को सुबह हिमाचल प्रदेश के मुख्य पर्यटन स्थलों में ताजा बर्फबारी हुई है। मौसम विज्ञान विभाग के शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि मंगलवार शाम 5.30 बजे से बुधवार सुबह 8.30 बजे तक शिमला में 44.5 सेंटीमीटर, मनाली में 30 सेमी, कल्पा में 39.6 सेमी, और सोयबाग में 1 सेमी बर्फ गिरी है। इस अवधि के दौरान डलहौजी में 60 सेमी, कुफ्री में 55 सेमी, केलांग में 33 सेमी और कल्पा में 39.6 सेमी तक बर्फ गिरी है। राज्य के कई इलाकों में बारिश भी हुई है। चंबा में 2 मिलीमीटर और चंबा में 53.3 मिलीमीटर बारिश हुई।

बुधवार को डलहौजी, कुफ्री, मनाली और चैल में तापमान क्रमश: शून्य से नीचे 2.9 डिग्री सेल्सियस, शून्य से नीचे 2.7 डिग्री सेल्सियस, शून्य से नीचे 1.6 डिग्री सेल्सियस और शून्य से नीचे 0.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। वहीं जनजातीय जिले लाहौल-स्पीति का प्रशासनिक केंद्र केलांग राज्य का सबसे ठंडा इलाका बना हुआ है जहां पारा लुढ़ककर शून्य से नीचे 11 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है। कल्पा में तापमान शून्य से नीचे 2.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

कश्मीर में हिमस्खलन से राजमार्ग तीसरे दिन भी बंद

जम्मू-कश्मीर में लगातार हो रहे हिमस्खनल और भूस्खलन के कारण 300 किलोमीटर लंबा श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग बुधवार को तीसरे दिन भी बंद रहा। इसके कारण राजमार्ग के विभिन्न स्थानों पर सैकड़ों वाहन विशेषकर ट्रक और तेल टैंकर फंसे हुए हैं। हिमपात एवं बर्फबारी के कारण लद्दाख क्षेत्र को कश्मीर घाटी से जोड़ने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग, ऐतिहासिक मुगल रोड तथा अन्य सड़कें भी बंद हैं। यातायात पुलिस के अधिकारी ने न्यूज एजेंसी वार्ता को बताया कि कश्मीर घाटी को सभी मौसम में देश के अन्य हिस्सों से जोड़ने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग आज तीसरे दिन भी बंद है। उन्होंने बताया कि भारी हिमपात होने के कारण जवाहर सुरंग का एक दरवाजा क्षतिग्रस्त हो गया है। उन्होंने बताया कि रामबन तथा रामसू के बीच कई जगहों पर भूस्खलन हुआ है और पहाड़ों से चट्टान नीचे गिर रहे हैं।

दूसरी ओर लद्दाख क्षेत्र को कश्मीर के साथ जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग हिमपात के कारण पिछले दो महीने से बंद है। उन्होंने बताया कि सोनमर्ग, जोजिला दर्रा, जीरो प्वाइंट तथा मीनमार्ग में ताजा हिमपात हुआ है। सीमावर्ती करगिल को लेह राजमार्ग के साथ जोड़ने वाली सड़क के मार्च या अप्रैल में खुलने की उम्मीद है।

दिल्ली में मौसम खराब लखनऊ उतरे विमान

दिल्ली मे बुधवार को मौसम खराब होने की वजह से कई उड़ानें दूसरे एयरपोर्ट भेजी गईं। दो विमानों को लखनऊ उतरा गया। एयरपोर्ट अथॉरिटी के अनुसार सुबह 11 बजे के करीब दो विमान लखनऊ उतरे। एयर इण्डिया की कोलकाता से दिल्ली जा रही उड़ान ए आई 763 दिन मे 10:56 बजे लखनऊ उतरी। इसी तरह इंडिगो की दिल्ली जा रही 6ई 5324 उड़ान 10:40 पर लखनऊ अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर उतरी। इसके अलावा लखनऊ से दिल्ली जाने को तैयार उड़ानो को करीब एक घन्टे के लिये यहीं रोक दिया गया। ये विमान डायवर्ट होकर लखनउ पहुंचे हैं, विमान अलग अलग जगह से आए हैं, दिल्‍ली में मौसम खराब होने के कारण लैंडिंग करानी पड़ी।

बिहार में बादल छाए

बिहार की राजधानी पटना तथा इसके आसपास के क्षेत्रों में बुधवार सुबह बादल छाए हुए हैं, जिससे तापमान में वृद्घि दर्ज की गई है। हालांकि इस बीच हल्की हवा चल रही है। पटना का बुधवार को न्यूनतम तापमान बढकर 16.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पटना मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक मंगलवार की रात से राज्य के अधिकांश क्षेत्रों में बादल छाए हुए हैं, जिससे न्यूनतम तापमान में अचानक वृद्घि दर्ज की गई है। अगले एक-दो दिनों के अंदर राज्य के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है, जिसके बाद तापमान में एकबार फिर गिरावट आएगी। भागलुपर और पूर्णिया का बुधवार को न्यूनतम तापमान 12.0 डिग्री सेल्सियस तथा गया का 10.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राजधानी पटना का बुधवार को अधिकतम तापमान भी 25.0 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने के आसार हैं। मंगलवार को पटना का न्यूनतम तापमान 11.4 डिग्री सेल्सियस तथा अधिकतम तापमान 26.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।