किश्तवाड़ में 25 जुलाई से शुरू होगी माछिल माता यात्रा

जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ जिले में 43 दिनों तक चलने वाली माछिल माता यात्रा 25 जुलाई से शुरू होगी। अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि जिला प्रशासन ने वार्षिक तीर्थयात्रा की सुरक्षा सहित व्यवस्थाओं की समीक्षा की है। यात्रा के दौरान देश भर के हजारों श्रद्धालु मनोरम पद्दार घाटी की सुंदरता निहारते हैं और 30 किलोमीटर कठिन मार्ग पर चलकर किश्तवाड़ के माछिल गांव में मां दुर्गा के मंदिर में पूजा-अर्चना करते हैं। किश्तवाड़ को एक दशक से पहले ही आतंकवाद से मुक्त घोषित किया गया था लेकिन पिछले वर्ष एक नवम्बर को भाजपा के राज्य सचिव अनिल परिहार और उनके भाई अजित परिहार की हत्या से यह क्षेत्र दहल गया था। इसके बाद नौ अप्रैल को आरएसएस नेता चंद्रकांत शर्मा और उनके सुरक्षा गार्ड को नौ अप्रैल को एक स्वास्थ्य केंद्र के अंदर गोली मार दी गई थी। अधिकारियों ने बताया कि किश्तवाड़ के जिला विकास आयुक्त (डीडीसी) अंगरेज सिंह राणा की अध्यक्षता में एक बैठक हुई जिसमें 25 जुलाई से शुरू हो रही यात्रा के प्रबंधों की समीक्षा की गई। यह यात्रा नौ सितम्बर को समाप्त होगी।