जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन लगना तय, 19 दिसंबर को खत्म होगा राज्यपाल शासन

जम्मू-कश्मीर में आने वाली 19 दिसंबर को राज्यपाल शासन खत्म होने के बाद राष्ट्रपति शासन लगना तय है। सांविधानिक विशेषज्ञों की मानें तो राष्ट्रपति शासन के दौरान चुनाव कराए जा सकते हैं।

इसके लिए केवल भारतीय चुनाव आयोग (ईसीआई) को यह लिखना होगा कि चुनाव के लिए स्थिति माकूल है और यहां चुनाव कराए जा सकते हैं। गवर्नर रूल के समाप्त होते ही छह माह के लिए राष्ट्रपति शासन लग जाएगा।

उससे पहले चुनाव संभव नहीं हैं। 19 दिसंबर से पहले चुनाव की तैयारियां लगभग असंभव हैं। केंद्र अगर चाहे तो बाद में प्रदेश में राष्ट्रपति शासन की अवधि छह माह के लिए और बढ़ाई जा सकती है, इसके लिए उसे संसद के दोनों सदनों से यह प्रस्ताव पास कराना होगा।

लेकिन संभावना है कि लोकसभा चुनाव के साथ ही विधानसभा चुनाव कराए जा सकते हैं। प्रदेश के तमाम राजनीतिक दलों का अब दबाव भी यही है कि जम्मू-कश्मीर में जल्द-से-जल्द विधानसभा चुनाव कराए जाएं।