J&K: कश्मीर में रेल सेवाएं लगातार तीसरे दिन स्थगित

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा कारणों से लगातार तीसरे दिन सोमवार को भी रेल सेवाएं स्थगित रहीं। शनिवार को पुलवामा में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकवादियों और सुरक्षाबलों तथा प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प में सात लोगों के मारे जाने की घटना के बाद अलगाववादी नेताओं ने हड़ताल का आह्वान किया है। मुठभेड़ में सेना का एक जवान भी शहीद हो गया था। मुठभेड़ और झड़प की घटनाओं के बाद शनिवार से ही घाटी में रेल सेवा स्थगित है।

रेलवे अधिकारी ने यूनीवार्ता से कहा, “पुलिस से रविवार की रात को ताजा परामर्श मिलने के बाद सोमवार को घाटी में रेल सेवाओं को स्थगित रखने का निर्णय लिया गया है।” उन्होंने बताया कि दक्षिण कश्मीर में बड़गाम-अनंतनाग-काजीगुंड से जम्मू के बेनियाल क्षेत्र के लिए रेल सेवाएं लगातार दूसरे दिन स्थगित रहेंगी।

इसी तरह उत्तर कश्मीर में श्रीनगर-बड़गाम और बारामूूला के बीच भी कोई रेलगाड़ी नहीं चलेगी।

अधिकारी ने कहा कि हम यात्रियों, रेलकर्मियों तथा रेलवे की संपत्ति की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ही पुलिस समेत स्थानीय प्रशासन के परामर्श के बाद ही रेल सेवाओं के स्थगन के संबंध में निर्णय लेते हैं।

सुरक्षित, सस्ता एवं तेज परिवहन होने के कारण ट्रेन सेवाएं घाटी में काफी लोकप्रिय हैं तथा सोमवार को ट्रेनों में काफी भीड़ भी होती है। घाटी में अलगाववादियों की हड़ताल, स्थानीय लोगों के प्रदर्शन तथा सुरक्षा बलों के साथ आतंकवादियों के मुठभेड़ के कारण बार-बार ट्रेन सेवाएं स्थगित कर दी जाती हैं।