J&K: शोपियां मुठभेड़ के बाद भड़की हिंसा में दो दर्जन से अधिक लोग घायल

सुरक्षाबलों ने शनिवार को दक्षिण कश्मीर के गुहंद, शोपियां में एक मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के नामी आतंकी शाहजहां और उसके एक साथी को मार गिराया। मुठभेड़ के बाद शोपियां और उसके साथ सटे इलाकों में भड़की हिंसा में दो दर्जन के करीब लोग जख्मी हो गए। प्रशासन ने हालात का जायजा लेते हुए पूरे इलाके में मोबाईल इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया है। इस बीच, मारे गए आतंकियों के जनाजे में शामिल हुए स्वचालित हथियारों से लैस आतंकियोंके एक दस्ते ने हवा में गोलियां दाग उन्हें सलामी भी दी।

शोपियां से मिली जानकारी के अनुसार, आज तड़के सेना की 34आरआर, राज्य पुलिस विशेष अभियान दल और सीआरपीएफ के जवानों के संयुक्त कार्यदल गुहंद गांव मेंएक तलाशी अभियान चलाया। सुरक्षाबल जब तलाशी लेते हुए आगे बढ़ रहे थे तो गांव के बाहरी छोर पर स्थित मकानों के पास एक बाग में छिपे आतंकियों ने उन पर फायरिंग कर दी। जवानों ने खुद को बचाते हुएजवाबी फायर किया। करीब एक घंटे बाद आतंकियों की तरफ से गोलियों की बौछार पूरी तरह बंद हो गई। इसके बाद जवानों ने सावधानीपूर्वक आगे बढ़ते हुए मुठभेड़स्थल की तलाशी ली। उन्हें वहां गोलियों से छलनी दो आतंकियों के शव व उनके हथियार मिले। मारे गए आतंकियों की पहचान जैश ए मोहम्मद जैश ए मोहम्मद के शाहजहां मीर निवासी अमशीपोरा और आबिद हुसैन वागे निवासी रावलपोरा के रुप में हुई है। दोनों के शव कानूनी औपचारिकताओं के बाद उनके परिजनों के हवाले कर दिए गए हैं।

इस बीच, मुठभेड़ की खबर फैलते ही बड़ी संख्या में आतंकियों की समर्थक भीड़ मौके पर जमा हो गई। जिहादी नारे लगाती भीड़ ने सुरक्षाबलों पर पथराव शुरु कर दिया। बताया जाता है कि आतंकियों ने सुरक्षाबलों से आतंकियों के शव भी छीनने का प्रयास किया। स्थिति को पूरी तरह बेकाबू होते देख सुरक्षाबलों ने भी लाठियां, आंसूगैस और पैलेट का सहारा लिया। दोपहर बाद तक जारी रही हिंसक झढ़पों में छह सुरक्षाकर्मियों समेत दो दर्जन से ज्यादा लोग जख्मी हुए। छह घायलों को उपचार के लिए श्रीनगर स्थित एसएमएचएस अस्पताल में दाखिल कराया गया है।