जम्मू-कश्मीरः ड्रग तस्करी के आरोप में आत्मसमर्पण कर चुके आतंकी समेत तीन गिरफ्तार

 जम्मू में शुक्रवार को आत्मसमर्पण कर चुके आतंकवादी समेत तीन कथित ड्रग तस्करों को हेरोइन के साथ गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में जब्त मादक पदार्थ की कीमत कम से कम चार करोड़ रुपए है. आरोपियों की पहचान अल बर्क आतंकी संगठन के पूर्व सदस्य अली मोहम्मद उर्फ इशहाक, सोहेल अहमद और प्रदीप कुमार के रूप में हुई है.

जम्मू शहर (दक्षिण) के पुलिस अधीक्षक विनय शर्मा ने यहां पत्रकारों को बताया कि अंतर-राज्यीय मादक पदार्थ गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है. उनके पास से 13 लाख रुपए नकद और एक किलो हेरोइन बरामद की गई है.

उन्होंने कहा, हेरोइन की अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत 4-5 करोड़ रुपए के बीच आंकी जा रही है.

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि वाल्मिकी चौक पर वाहनों की रूटीन चेकिंग के दौरान आरोपियों को गिरफ्तार किया गया.

शर्मा ने कहा कि पाकिस्तान में प्रशिक्षण हासिल करने वाला अली आत्मसमर्पण के बाद कुपवाड़ा में केबल नेटवर्क चला रहा था. इसके बाद वह सोशल मीडिया के जरिये पाकिस्तान के ड्रग तस्करों के संपर्क में आया और मादक पदार्थों का तस्कर बन गया.

मादक पदार्थ उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में भारत-पाकिस्तान सीमा से लाया जा रहा था, जिसे राजस्थान भेजा जाना था.

शर्मा ने कहा कि इस मामले में गांधी नगर पुलिस थाने में एक केस दर्ज कर लिया गया है. उन्होंने कहा कि मामले के आतंकवाद और सीमा तस्करी होने की दृष्टि से इसकी जानकारी एनआईए को दे दी गई है.