J&K: आज से अनंतनाग में पहले रेडियो स्टेशन की शुरुआत, बिना विज्ञापन के 16 घंटे रोजाना बजेगा

जम्मू कश्मीर में लोगों से जुड़ने के लिए सेना और अन्य सुरक्षा बल नित नए प्रयास करती आई है और अब ऑपरेशन सद्भावना के बाद नई टेक्नोलॉजी की मदद से लोगों तक पहुंचने का प्रयास भी कर रही है. इसीलिए अब युवाओं में बेहद मकबूल FM रेडियो की मदद से सेना जुड़ने की शुरुआत कर चुकी है.

इसी कड़ी में एक पहल के तहत सेना ने अनंतनाग में कश्मीर घाटी के पहले एफएम रेडियो स्टेशन (CRS) – RADIO RABTA की बुनियाद रखी है. जिसके जरिये लोगों को मनोरंजन के साथ-साथ आने वाले दिनों में कई उपयोगी और मनोरंजन की बातें भी पहुंचाई जा सकें. आज से रेडियो की यह धुन अनंतनाग के लोगों के रेडियो पर सुनाई देगी.

कोई विज्ञापन नहीं
कम्युनिटी FM रेडियो स्टेशन ने आज से काम करना शुरू कर दिया है. यह 90.8 फ्रीक्वंसी पर सुना जा सकता है. सुबह 6 बजे से रात 10 बजे तक बिना ब्रेक और विज्ञापन के नॉन स्टॉप बजता रहेगा. रेडियो स्टेशन के लिए सेना ने अनंतनाग के हाई ग्राउंड कैंप में ना सिर्फ जगह दी है बल्कि इसके लिए जरूरी सामान भी उपलब्ध करवाया है. रेडियो स्टेशन के लिए स्टूडियो सेना की एक बुलेट प्रूफ गाड़ी बनायी गयी है. क्योंकि यह साउंड प्रूफ और एयर कंडीशनर के साथ आती है!

रेडियो राब्ता की थीम लाइन ‘दिल से दिल तक’ रखी गयी है. इस थीम का मकसद भी लोगों के साथ जोड़ को बढावा देना है. सेना के अनंतनाग के सेक्टर कमांडर ब्रिग विजय महादेवन ने आज इस रेडियो स्टेशन का उद्घाटन करते हुए कहा कि फिलहाल शुरुआत में रेडियो पर सूफी, हिंदी और पंजाबी गाने लोगों के मोरंजन के लिए चलाए जाएंगे लेकिन आने वाले दिनों में रेडियो के जरिये लोगों को विकास के कामों के बारे में भी जानकारी दी जाएगी.

सेना, प्रशासन और आम लोगों के बीच की दूरी कम करना मकसद
आने वाले दिनों में रेडियो के जरिये कृषि, शिक्षा, सेहत, खेल, समाज और संस्कृति से संबंधित जानकारी दी जाएगी. सेना का कहना है कि आने वाले दिनों में घाटी के सभी दस जिलों और खास तौर पर दूर दराज के इलाकों में ऐसे कई और स्टेशन चालू किए जाएंगे, जिनकी मदद से सेना, प्रशासन और आम लोगों के बीच की दूरी को कम किया जा सकेगा.