J&K: धारा 370 हटने के बाद पाक ने जम्मू रीजन में हर रोज की 13 बार फायरिंग!

जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटने के बाद पाकिस्तान की तरफ से फायरिंग की घटनाओं में लगातार इजाफा हो रहा है। इसमें विशेषतौर पर जम्मू रीजन की आईबी और एलओसी की चौकियों के अलावा रिहायशी इलाकों को भी निशाना बनाया जा रहा है। पाकिस्तान ने इस साल अभी तक 3186 बार जम्मू रीजन के बार्डर पर फायरिंग की है। जो कि कश्मीर के मुकाबले ज्यादा है। इस तरह से पाक की तरफ से पिछले आठ महीनों में औसतन हर दिन 13 बार फायरिंग होती है। जो कि अपने आप में बड़ा रेकॉर्ड है।

जानकारी के मुताबिक, जम्मू रीजन में पाकिस्तान की तरफ की गई फायरिंग के कारण अब तक आठ जवान शहीद हो चुके हैं, जबकि कई मकानों को नुकसान पहुंचा है। पाकिस्तान की तरफ से विशेषतौर पर पहाड़ी इलाकों में फायरिंग की जा रही है। जो कि आतंकवादियों की घुसपैठ के रूट माने जाते हैं। पाकिस्तान की तरफ से लगातार पुंछ और राजौरी जिलों में फायरिंग की जा रही है।

भारतीय सेना देती है कड़ा जवाब
हर दिन कहीं ना कहीं पर पाक की तरफ से फायरिंग की जाती है। इसका भारतीय सेना की तरफ से भी कड़ा जवाब दिया जाता है। पाक को फायरिंग में काफी नुकसान हुआ है। फिर भी पाक की तरफ से फायरिंग में किसी प्रकार की कमी नहीं की गई है। अगर एलओसी को छोड़ दिया जाए तो रीजन की आईबी पर 1 जनवरी से 31 अगस्त तक गोलीबारी की 242 घटनाएं हुई है।

फायरिंग की आड़ में घुसपैठ की कोशिश

पाकिस्तान के साथ गोलीबारी के मामले हॉटलाइन, फ्लैग मीटिंग और दोनों देशों के सैन्य संचालन महानिदेशकों के बीच वार्ता के जरिए पाकिस्तानी अधिकारियों के साथ उठाए गए हैं। लेकिन पाक की तरफ से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। फायरिंग की आड़ में घुसपैठ की कोशिश की जा रही है।

बिना कारण फायरिंग कर रहा पाक
इस समय विश्व कोरोनो वायरस महामारी की चपेट में है लेकिन पाकिस्तान नियंत्रण रेखा पर अकारण संघर्ष विराम का उल्लंघन कर रहा है। पाक की तरफ से अब बार्डर पर सुरंग बनाकर आतंकियों को घुसपैठ करवाने के अलावा ड्रोन के माध्यम से हथियारों की सप्लाई की जा रही है। इसके कई ताजा मामले पेश आ चुके हैं। फायरिंग के इतने मामले बढ़ने के बाद सीमांत इलाकों के लोगों में डर बना हुआ है। हालांकि अभी किसी इलाके में पलायन नहीं हुआ है।