सरकार ने 97,012 फंसे हुए जम्मू कष्मीर के लोगों को वापिस लाया, 68,844 लखनपुर से 28,168 कोविड 19 विषेश टेªनों द्वारा वापिस लाया गया

जम्मू-कश्मीर सरकार ने कोविड लॉकडाउन के दौरान 97,012 जम्मू कष्मीर के यूटी से बाहर फंसे हुए लोगों को वापिस लाया। उन्होंने कुछ को लखनपुर द्वारा और कुछ को कोविड विषेश टेªनों द्वारा यूटी में वापिस लाया।
कोविड 19 के इस लाॅकडाउन में वापिस लाये गये जम्मू कष्मीर के लोगों के संक्रमण टैस्ट के लिए प्रत्येक सम्बंधित जिला प्रषासन द्वारा बनाई गई कडी रणनीति के तहत लोगों का वापिस आने पर टैस्ट और उसके बाद 14 दिनों के लिए क्वारंटीन की सभी तैयारियां की गई हैं।
वापिस लाये गये लोगों की गणना की व्याख्या हेतु सम्बंधित आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, जम्मू और कश्मीर के जिलों के प्रशासन को जम्मू और उधमपुर रेलवे स्टेशनों पर विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से 35 कोविड विशेष ट्रेनें, 28168 फंसे हुए यात्रियों के साथ आई हैं। अतिरिक्त 68844 यात्रियों को लखनपुर द्वारा लाया गया।
सरकार ने 27 मई से 28 मई तक 936 फंसे हुए यात्रियों को लखनपुर से वापिस लाया जबकि 15वीं टेªन द्वारा 656 यात्रियों को आज रेलवे स्टेषन जम्मू उतारा गया। अतिरिक्त कुल 15 विषेश ट्रेनों द्वारा कुल अभी तक 12528 विभिन्न राज्यों से फंसे हुए यात्रियों को जम्मू लाया गया तथा 20 विषेश टेªनों से 15640 यात्रियों का उधमपुर रेलवे स्टेषन में पहुंचाया गया।
अतिरिक्त संक्षिप्त जानकारी के अनुसार 68844 फंसे हुए यात्रियों को विभिन्न राज्यों से लखनपुर द्वारा 28 मई तक यूटी में वापिस लाया गया जिनमें पंजाब से 16627, हिमाचल प्रदेश से 20876, आंध्र प्रदेश से 21, दिल्ली से 6681, गुजरात से 1377, राजस्थान से 2923, हरियाणा से 3970, छत्तीसगढ़ से 156, उत्तराखंड से 3431, महाराष्ट्र से 1046, उत्तर प्रदेश से 4378, ओडिशा से 63, असम से 267, मध्य प्रदेश से 998, देहरादून से 88, चंडीगढ़ से 1251, तेलंगाना से 684, कर्नाटक से 114, तमिलनाडु से 19, चेन्नई से 52, बिहार से 303, पश्चिम बंगाल से 160, झारखंड से 85, नेपाल से 3, और अन्य राज्यों और संघ राज्यों से 3271 शामिल हैं।