PM मोदी ने किया एशिया के सबसे बड़े सोलर प्लांट का उद्घाटन, कहा- रीवा ने इतिहास रच दिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मध्य प्रदेश के रीवा में स्थापित 750 मेगावाट की सौर परियोजना राष्ट्र को समर्पित की. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत कई अन्य मंत्रियों ने इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया. एशिया की सबसे बड़ी इस सौर ऊर्जा परियोजना की क्षमता 750 मेगावाट है.

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज रीवा ने इतिहास रच दिया है. जब हम इस प्लांट का वीडियो आसमान से देखते हैं, तो लगता है हजारों सोलर पैनल फसल बनकर लहरा रहे हों. रीवा का सोलर प्लांट इस पूरे क्षेत्र को ऊर्जा का केंद्र बनाएगा, इससे एमपी के लोगों को लाभ मिलेगा और दिल्ली में मेट्रो को भी बिजली मिलेगी.

पीएम मोदी ने कहा कि अब रीवा वाला शान से कहेंगे कि दिल्ली की मेट्रो हमारा रीवा चलाता है. इसका लाभ मध्य प्रदेश के गरीब, मध्यम वर्गीय लोगों, किसान और आदिवासियों को होगा.

दिल्ली में मेट्रो को भी मिलेगा इसका लाभ
पीएम मोदी ने कहा कि रीवा की पहचान मां नर्मदा के नाम से और सफेद बाघ से रही है. अब इसमें एशिया के सबसे बड़े सोलर पावर का नाम भी जुड़ गया है. रीवा का ये सोलर प्लांट इस पूरे क्षेत्र को, इस दशक में ऊर्जा का बहुत बड़ा केंद्र बनाने में मदद करेगा. इस सोलर प्लांट से मध्य प्रदेश के लोगों को, यहां के उद्योगों को तो बिजली मिलेगी ही, दिल्ली में मेट्रो रेल तक को इसका लाभ मिलेगा.

पीएम ने कहा कि ये तमाम प्रोजेक्ट जब तैयार हो जाएंगे, तो मध्य प्रदेश निश्चित रूप से सस्ती और साफ-सुथरी बिजली का हब बन जाएगा.इसका सबसे अधिक लाभ मध्य प्रदेश के गरीब, मध्यम वर्ग के परिवारों, किसानों, आदिवासियों को होगा.

मध्यप्रदेश के रीवा में एशिया के सबसे बड़े सौर संयंत्र की क्षमता 750 मेगावट बिजली उत्पादन की है. यह संयंत्र रीवा जिला मुख्यालय से 25 किलोमीटर दूर गुढ़ में 1590 एकड़ में फैला हुआ है. यह परियोजना रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर लिमिटेड, एमपी ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड और भारत के सौर ऊर्जा निगम का एक संयुक्त उद्यम है. इस परियोजना में एक सौर पार्क के अंदर स्थित 500 हेक्टेयर भूमि पर 250-250 मेगावाट की तीन सौर उत्पादन इकाइयां शामिल हैं.

इस प्रोजेक्ट का लोकापर्ण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस लोकार्पण में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी हिस्सा लिया. इस लोकार्पण कार्यक्रम में प्रभारी राज्यपाल आनंदी बेन पटेल लखनऊ से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से शामिल हुईं. कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री, प्रदेश के मंत्री, सांसद और विधायक भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से ही जुड़े.