J&K: बांदीपोरा में भाजपा नेताओं पर हमले का मास्टरमाइंड लश्कर कमांडर ढेर

उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले के क्रीरी इलाके में सोमवार दोपहर सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच भीषण मुठभेड़ हुई। इसमें दो आतंकी मार गिराए गए। इसमें से एक उत्तरी कश्मीर के लश्कर ए तैयबा का ऑपरेशन कमांडर सज्जाद हैदर उर्फ जजा निकला। बांदीपोरा में भाजपा के तीन नेताओं की हत्या के पीछे भी हैदर ही मास्टरमाइंड था। हैदर का मारा जाना सुरक्षाबलों के लिए एक बड़ी कामयाबी है। इस पर साढ़े 12 लाख रुपये का इनाम था। वह उत्तरी कश्मीर का नंबर वन और कश्मीर के टॉप टेन आतंकियों में शामिल था। 

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार हैदर 2016 में एलईटी में शामिल हुआ था और उत्तरी कश्मीर में आतंकी संगठन लश्कर की ऑपरेशनल कमांड संभाल रहा था। वो उत्तरी कश्मीर का बुरहान वानी था। उत्तरी कश्मीर में वर्ष 2016 के बाद हुए लगभग अधिकतर बड़े हमलों के पीछे हैदर ही मास्टरमाइंड रहा। 

एक अधिकारी ने बताया कि हैदर को लश्कर की ऑपरेशनल कमांड के साथ-साथ इलाके में स्थानीय युवाओं को संगठन में शामिल करने की जिम्मेदारी भी सौंपी गई थी और वो पाक में बैठे आकाओं के इशारों पर सभी काम को अंजाम दे रहा था। हैदर के साथ आए करीब 20 आतंकियों को जिंदा पकड़ा गया है और उसके ओजीडब्ल्यू मॉड्यूल का भी पर्दाफाश किया गया है। 
शरीर पर बांधी थी आईईडी

जानकारी के अनुसार हैदर ने अपने जिस्म पर एक आईईडी भी फिट किया हुआ था। समय रहते हुए सुरक्षाबलों ने इसे निष्क्रिय किया। सूत्रों के मुताबिक हैदर ने मरने से पहले भी सुरक्षाबलों को भारी नुकसान पहुंचाने की साजिश रची थी। 

हैदर के मारे जाने से आतंकवाद की भर्ती में आएगी गिरावट
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि हैदर का मारा जाना सुरक्षाबलों के लिए एक बड़ी कामयाबी है। उनका मानना है कि इससे उत्तरी कश्मीर में युवाओं की आतंकवाद में भर्ती में करीब 50 फीसदी की गिरावट आएगी।