कोरोना वायरस: इन राज्यों में 14 अप्रैल के बाद भी जारी रहेगा लॉकडाउन, देखिए लिस्ट

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए चौतरफा लॉकडाउन बढ़ाने की मांग उठ रही है. इसी बाच शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ लॉकडाउन की मियाद बढ़ाने को लेकर बातचीत की. कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से देशव्यापी लॉकडाउन कम से कम 30 अप्रैल तक बढ़ाने की मांग की है. अब लगभग इसको बढ़ना तय है. हालांकि सरकार की तरफ से इसको लेकर अभी आधिकारिक ऐलान नहीं हुआ है. इसी बीच कुछ राज्य एक कदम आगे निकलते हुए अपने-अपने राज्यों में लॉकडाउन को 30 अप्रैल से लेकर 1 मई तक बढ़ा दिया है. आइए जानते हैं वह राज्य कौन से हैं जहां लॉकडाउन को बढ़ा दिया गया है.

ओडिशा

9 अप्रैल को ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इस बात की घोषणा की थी कि वह अपने राज्य में लॉकडाउन की मियाद 14 अप्रैल के बाद भी जारी रखेंगे. उन्होंने कहा था कि ओडिशा 30 अप्रैल तक राज्य में लॉकडाउन जारी रखेगा. बता दें कि 14 अप्रैल के बाद भी लॉकडाउन जारी रखने की घोषणा करने वाला पहला राज्य ओडिशा ही था.

नवीन पटनायक ने कहा,” “राज्य मंत्रिमंडल ने फैसला किया है कि हमारे लोगों की जान बचाना इस समय सबसे शीर्ष प्राथमिकता है. हमने 30 अप्रैल तक लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला किया है. हम भारत सरकार से राष्ट्रीय स्तर पर लॉकडाउन (एक ही समय अवधि तक) बढ़ाने की सिफारिश करेंगे. हम केंद्र सरकार से 30 अप्रैल तक एयरलाइन और रेलवे सेवाएं शुरू नहीं करने का भी अनुरोध करेंगे.”

पंजाब ने 1 मई तक बढ़ाया लॉकडाउन

पंजाब सरकार ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए 1 मई तक राज्य में लॉकडाउन की घोषणा की है. पंजाब में भी अब तक कोरोना के 132 मामले सामने आ चुके हैं और 11 की मौत हो गई है. जबकि पांच लोग ठीक हो गए हैं.

महाराष्ट्र
देश में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र ने भी लॉकडाउन को 30 अप्रैल तक बढ़ाने का फैसला किया है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को इसकी घोषणा की. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि कुछ क्षेत्रों में लॉकडाउन में ढील दी जा सकती है जबकि कुछ क्षेत्रों में उसे और कड़ा किया जाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि 30 अप्रैल के बाद पाबंदियां पूरी तरह हटाने को लेकर उस वक्त समीक्षा करने के बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा. महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के अब तक 1574 मामले सामने आए हैं और यहां 110 मरीजों की मौत हो चुकी है जबकि 188 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं.

कर्नाटक

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने भी शनिवार को कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन को दो सप्ताह बढ़ाया जाएगा. हालांकि उन्होंने कहा कि आने वाले 15 दिन बीते 21 दिनों से अलग होंगे. उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि बिना किसी कारण के लॉकडाउन में कोई ढील नहीं दी जानी चाहिए. लॉकडाउन को आगे बढ़ाने के लिए कई सुझाव आए हैं. ऐसे में केंद्र सरकार की ओर से एक दो दिन में दिशा-निर्देश जारी किए जा सकते हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार के लॉकडाउन में कृषि और आर्थिक गतिविधि पर कुछ छूट दी जाएगी. बता दें कि कर्नाटक में अब तक कोरोना वायरस के कुल 214 केस सामने आए हैं. इसमें 6 लोगों की मौत हो गई है.

तेलंगाना
तेलंगाना ने भी कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जारी लॉकडाउन को 30 अप्रैल तक बढ़ाने का फैसला किया है. मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने इसकी घोषणा की. केसीआर पहले भी लॉकडाउन बढ़ाए जाने की वकालत करते रहे हैं. तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने सोमवार को भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया था कि देश में लागू 21 दिन के लॉकडाउन की अवधि में 14 अप्रैल के बाद विस्तार किया जाए, क्योंकि लोगों के जीवन रक्षा के लिए यह महत्वपूर्ण है. उन्होंने कहा,” यह सच है कि लॉकडाउन ने अर्थव्यवस्था को अपंग कर दिया है. फिर भी मेरा विचार है कि लॉकडाउन को 30 अप्रैल तक बढ़ाने की आवश्यकता है, क्योंकि आर्थिक गतिविधि को पुनर्जीवित किया जा सकता है, लेकिन मानव जीवन एक बार खो जाने के बाद पुनर्जीवित नहीं किया जा सकता है.”

पश्चिम बंगाल
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी कर्फ्यू को 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया है. 30 अप्रैल तक बंगाल में भी तालाबंदी जारी रहेगी. उन्होंने कहा है कि उनकी सरकार अप्रैल के अंत में फिर से स्थिति की समीक्षा करेंगे.