देश के 2.75 लाख हेक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र में चला टिड्डी नियंत्रण अभियान

देश के कई हिस्सों के किसानों के लिए आफत बनी टिड्डी पर नियंत्रण को लेकर मंगलवार को केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय 2.75 लाख हेक्टेयर में अभियान चलाने का दावा किया. मंत्रालय ने कहा कि केंद्र के टिड्डी सर्कल कार्यालयों (एलसीओ) द्वारा 11 अप्रैल से 6 जुलाई तक राजस्थान, मध्य प्रदेश, पंजाब, गुजरात, उत्तरप्रदेश और हरियाणा में 1,43,422 हेक्टेयर क्षेत्र में नियंत्रण अभियान चलाया जा चुका है.

कृषि मंत्रालय के अनुसार इसके अलावा इस दौरान राजस्थान, मध्य प्रदेश, पंजाब, गुजरात, उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, हरियाणा और बिहार में वहां की सरकारों ने भी 1,32,465 हेक्टेयर क्षेत्र में नियंत्रण अभियान चलाया.

मंत्रालय के अनुसार टिड्डी रोधी अभियानों के लिए हवाई छिड़काव क्षमता मजबूत की गई है. राजस्थान के रेगिस्तानी क्षेत्र में हेलीकॉप्टर तैनात कर दिया गया है. भारतीय वायु सेना ने राजस्थान के जोधपुर जिले में 5 जुलाई को एमआई-17 हेलीकॉप्टर से केमिकल का छिड़काव करके टिड्डी के खात्मे का प्रयास किया है. टिड्डी को रोकने के लिए हेलीकॉप्टर से छिड़काव देश के लिए टिड्डी नियंत्रण के इतिहास में अपनी तरह की पहली घटना है.

वहीं राजस्थान के बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर, नागौर और जोधपुर जिलों में 15 ड्रोन तैनात कर दिए गए हैं. मंत्रालय के अनुसार भारत ऐसा पहला देश है जो टिड्डी नियंत्रण के लिए ड्रोन का उपयोग कर रहा है. नागर विमानन मंत्रालय ने ड्रोन के लिए 21 मई सरकारी इकाई को सशर्त छूट दी थी.

मंत्रालय के अनुसार वर्तमान में छिड़काव वाहनों के साथ 60 नियंत्रण दल राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश और उत्तरप्रदेश में तैनात हैं और साथ ही केन्द्र सरकार के 200 से ज्यादा कर्मचारी टिड्डी नियंत्रण अभियान में लगे हुए हैं.