महाराष्ट्र: गृहमंत्री देशमुख को फिर आए धमकी भरे फोन, कंगना विवाद से दूर रहने को कहा

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख को अभिनेत्री कंगना रनौत से जुड़े विवाद पर उनके रुख को लेकर एक बार फिर धमकी भरे फोन आए हैं. मंत्री के करीबी सूत्रों ने बुधवार को बताया कि देशमुख को मंगलवार और बुधवार सुबह करीब छह बजे हिमाचल प्रदेश और अन्य स्थान से अलग-अलग नंबरों से फोन आए.

फोन करने वालों ने मंत्री से अभिनेत्री से जुड़े विवाद से दूर रहने को कहा है. कंगना रनौत ने कहा था कि उन्हें मुम्बई पुलिस से डर लगता है और उन्होंने मुम्बई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से की थी. कंगना रनौत हिमाचल प्रदेश की रहने वाली हैं.

सूत्रों ने कहा, ‘‘मंत्री को मंगलवार को हिमाचल प्रदेश से पांच फोन आए थे. बुधवार सुबह करीब छह बजे उन्हें और दो फोन आए.’’ उन्होंने बताया कि फोन करने वाले एक व्यक्ति ने खुद को मृत्युंजय गर्ग बताया. सूत्रों ने कहा कि फोन करने वालों ने मंत्री से अभिनेत्री से जुड़े विवाद से दूर रहने को कहा.

इससे पहले, मंत्री ने सोमवार को बताया था कि एक अज्ञात व्यक्ति ने देशमुख के नागपुर कार्यालय में फोन कर उन्हें और राकांपा प्रमुख शरद पवार को धमकी दी थी. रनौत ने हाल ही में यह भी कहा था कि वह “मूवी माफिया” से ज्यादा मुम्बई पुलिस से डरती हैं और अपने गृह राज्य हिमाचल प्रदेश या केन्द्र से सुरक्षा चाहेंगी. देशमुख ने पिछले सप्ताह कहा था कि महाराष्ट्र या मुम्बई में यदि कोई सुरक्षित महसूस नहीं करता, तो उसे राज्य में रहने को कोई अधिकार नहीं है.

देशमुख ने सोमवार को केन्द्र सरकार के अभिनेत्री कंगना रनौत को ‘वाय प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा देने के फैसले पर हैरानी जतायी थी. उन्होंने कहा था कि रनौत ने अपनी टिप्पणी से मुम्बई और महाराष्ट्र का ‘‘अपमान’’ किया है. गृहमंत्री ने मंगलवार को कहा था कि मुम्बई पुलिस अध्ययन सुमन के उन आरोपों की जांच करेगी, जिसमें उन्होंने कंगना पर मादक पदार्थ लेने का आरोप लगाया है. देशमुख ने कहा कि अभिनेता शेखर सुमन के बेटे अध्ययन सुमन का कंगना के साथ रिश्ता था और उन्होंने आरोप लगाया है कि वह मादक पदार्थ लेती थीं .