जम्मू कश्मीर: रमजान के महीने में लॉकडाउन के बीच बाजारों में पसरा पड़ा है सन्नाटा

शनिवार से रमजान के पवित्र महीने की शुरुआत हुई, लेकिन कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जारी लॉकडाउन के चलते जम्मू के बाजारों में रौनक नहीं है. जम्मू में रमजान के दौरान इक्का-दुक्का लोग की घरों से निकल कर सिर्फ जरूरी सामान की खरीदारी करते नजर आ रहे हैं.

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जम्मू में लॉकडाउन है और शहर के चार इलाकों को रेड जोन घोषित कर दिया गया है. जिनमें से कुछ मुस्लिम बहुल इलाके भी हैं. इन इलाकों में से एक गुज्जर नगर में शनिवार तड़के बाजारों में सन्नाटा दिखा. सड़कों पर रमजान के पहले दिन जरूरी सामान खरीदने निकले इक्का दुक्का लोगों के साथ सिर्फ पुलिस और सुरक्षाबलों के जवान दिखे जो इस इलाकों में लॉकडाउन को लागू करवाने की ड्यूटी देते नजर आए.

यहां खरीदारी करने पहुंचे लोगों का दावा था कि इस साल रमजान की रौनक ना के बराबर है. लोग घरों से सिर्फ जरूरी सामान लेने ही निकल रहे हैं. यहां खरीदारी करने पहुंचे लोगों ने बताया कि इस साल कोरोना महामारी के चलते लोग रमजान की नमाज भी घरों में ही अता कर रहे हैं. वहीं इसी इलाके में दूध की दुकान चलाने वाले एक शख्स ने दावा किया कि इस साल रमजान पर ग्राहकों में भारी कमी है. दूध, दही और पनीर जैसी जरूरी वस्तु की बिक्री में भी 50 प्रतिशत से अधिक की कमी आयी है.