तूफान: मुआवजे पर सियासत तेज, कमलनाथ का पीएम मोदी पर हमला, बीजेपी ने किया पलटवार

कई राज्यों में आंधी-बारिश से तबाही पर मुआवजे को लेकर देश की सियासत गरमा गई है। मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री कमलनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आंधी और तूफान में मारे गए लोगों के साथ मुआवजे में भेदभाव करने का आरोप लगाया है। वहीं, बीजेपी ने कमलनाथ के दावों को सिरे से खारिज कर दिया। बीजेपी ने दावा किया कि राजस्थान और मध्य प्रदेश की सरकारों ने पीएमओ को नुकसान की रिपोर्ट नहीं भेजी थी। हालांकि, कुछ देर बाद पीएम मोदी ने एक अन्य ट्वीट में देश के विभिन्न हिस्सों में आंधी-तूफान में मारे गए लोगों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये और घायलों को 50 हजार रुपये मुआवजे का ऐलान कर दिया।

कमलनाथ से साधा पीएम पर निशाना
कमलनाथ ने पीएम मोदी के केवल गुजरात के मृतक लोगों को मुआवजा देने पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा, ‘मोदी जी, आप देश के पीएम हैं ना कि गुजरात के।’ कमलनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री की संवेदनाएं केवल गुजरात तक क्‍यों सीमित हैं जबकि मध्‍य प्रदेश में भी तूफान से 10 से अधिक लोग मारे गए हैं।

पीएम मोदी ने एमपी के लिए भी किया मुआवजे का ऐलान
पीएम मोदी गुजरात को मुआवजे के ऐलान के बाद करीब दो घंटे बाद दो ट्वीट कर मध्य प्रदेश, राजस्थान, मणिपुर और देश के अन्य हिस्सों में भारी आंधी-बारिश के कारण हुई मौतों पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि सरकार प्रभावित लोगों की मदद के लिए हर संभव कोशिश कर रही है। पीएम ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि मध्य प्रदेश, राजस्थान, मणिपुर और देश के अन्य हिस्सों में आंधी-बारिश के कारण जान गंवाने वालों के निकटतम परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपये के मुआवजा दिया जाएगा। इसके अलावा पीएम ने इन घटनाओं में घायलों को 50-50 हजार मुआवजा का ऐलान किया।

‘बाकी राज्यों से नहीं मिली रिपोर्ट’
बीजेपी ने कमलनाथ के बयान पर पलटवार किया है। बीजेपी नेता अनिल बलूनी ने कहा है कि PMO को गुजरात से रिपोर्ट दी गई थी। बाकी राज्यों से नुकसान की रिपोर्ट नहीं मिली थी। मध्य प्रदेश और राजस्थान दोनों जगह कांग्रेस की सरकारें हैं। बलूनी ने कहा कि कमलनाथ सबकुछ जानते हुए राजनीति कर रहे हैं।

कमलनाथ ने पीएम मोदी को ट्वीट कर लिखा, ‘एमपी में भी बेमौसम बारिश और तूफान के कारण आकाशीय बिजली गिरने से 10 से अधिक लोगों की मौत हुई है लेकिन आपकी संवेदनाएं सिर्फ गुजरात तक सीमित? भले यहां आपकी पार्टी की सरकार नहीं है लेकिन लोग यहां भी बसते हैं।’ उन्‍होंने कहा कि बिजली गिरने से इंदौर, धार और प्रदेश के अन्य स्थानों पर जनहानि की बेहद दुखदायी घटनाएं सामने आई हैं।

उन्‍होंने कहा, ‘मैं और मेरी सरकार दुख की इस घड़ी में पीड़ित परिवार के साथ खड़े हैं। पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं।’ बता दें कि आंधी-तूफान से मध्‍य प्रदेश में कम से कम 16 लोगों के मौत और कई लोगों के घायल होने की सूचना आ रही है। बारिश और बिजली गिरने से इंदौर में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। छिंदवाड़ा में तापमान 28 डिग्री गिर गया।

मंदसौर और नीमच में जमकर ओले गिरे
मध्‍य प्रदेश के मंदसौर और नीमच में जमकर ओले गिरे। इसके बाद रातभर बारिश होती रही। बारिश से हजारों क्विंटल गेहूं भीग गया। कुछ ऐसा ही हाल राज्‍य के कुछ अन्‍य जिलों में भी रहा। बता दें कि तूफान में गुजरात के भी नौ लोग मारे गए हैं। पीएम मोदी ने गुजरात के हताहत लोगों के प्रति शोक संवेदना व्‍यक्‍त करते हुए ट्वीट कर मुआवजे का ऐलान किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के अलग-अलग हिस्सों में भारी बारिश और तूफान में मारे गए लोगों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है। इसके अलावा घायलों को 50-50 हजार रुपये के मुआवजे का भी ऐलान किया गया है। प्रधानमंत्री के इसी ऐलान के बाद कमलनाथ ने उन पर निशाना साधा और मध्‍य प्रदेश के लोगों के साथ भेदभाव का आरोप लगाया।