जम्मू पहुंचे सेना प्रमुख एमएम नरवणे, बॉर्डर पर सेना की तैयारियों का लिया जायजा

जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान के सीजफायर उल्लंघन के मामलों के खिलाफ भारतीय सेना जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम कर रही है। इस बीच सोमवार को भारतीय थल सेनाध्यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवणे सीमा पर सेना की तैयारियों का जायजा लेने के लिए जम्मू पहुंचे। सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी।

अधिकारी ने बताया कि जम्मू में सेना प्रमुख ने पाकिस्तान के साथ सीमा पर तैनात सैनिकों की ऑपरेशनल तैयारियों की समीक्षा की। इस दौरान उन्हें वरिष्ठ कमांडरों ने मौजूदा हालात और सुरक्षा की स्थितियों की जानकारी दी। सेना प्रमुख ने जम्मू-पठानकोट रीजन में तैनात भारतीय सैनिकों की तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी से आंतरिक सुरक्षा मसलों तथा सुरक्षा के बुनियादी ढांचे के अपग्रेडेशन तथा सेना की ऑपरेशनल तैयारियों के बारे में जानकारी ली।

सेना पर जताया भरोसा
नरवणे ने फील्ड फॉर्मेशन कमांडर्स और अग्रिम इलाकों में तैनात सैनिकों से बातचीत भी की। इसके अलावा उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पश्चिमी कमान के सभी अधिकारियों को संबोधित किया और उनका मनोबल बढ़ाया। सेना प्रमुख ने भारतीय सेना पर किसी भी परिस्थिति का सामना करने और दुश्मनों के दुस्साहस को विफल करने की क्षमता पर भरोसा जताया।

आतंकवाद के खिलाफ ऑपरेशन
बता दें कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में सीमा पर सेना के जवान जहां पाकिस्तान के सीजफायर उल्लंघन का मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं, वहीं प्रदेश के अंदर स्थानीय पुलिस के साथ सुरक्षाबलों ने आतंकवाद के खिलाफ अभियान छेड़ रखा है। इसी बीच सोमवार को एलओसी के पास आतंकियों की मौजूदगी की खबर लगने के बाद सेना ने सर्च ऑपरेशन चलाया और पूरे इलाके को घेर लिया। यहां आतंकवादियों की तलाश की जा रही है।

आतंकवादी ढेर
वहीं, अनंतनाग जिले में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच सोमवार सुबह मुठभेड़ में एक आतंकवादी के मारे जाने की खबर है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने अनंतनाग जिले के श्रीगुफ्वारा इलाके में तड़के घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया था।