दिल्ली-एनसीआर में दमघोंटू स्तर पर पहुंचा प्रदूषण, दिवाली तक हालात और ज्यादा खराब होने की चेतावनी

दिल्ली में बुधवार को हवा की शुद्धता का स्तर अचानक ‘बहुत खराब’ के स्तर पर पहुंच गया। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और केंद्र के ही वायु गुणवत्ता पूर्वानुमान व अनुसंधान संस्थान (सफर) ने बुधवार को हवा की गुणवत्ता में अचानक बेहद गिरावट दर्ज की।

भलस्वा लैंडफिल साइट पर 20 अक्तूबर से लगी आग के कारण निकल रहे जहरीले धुएं से स्थिति और भी ज्यादा खराब हो गई है। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी के अनुसार, दिवाली तक राजधानी व आसपास के क्षेत्र प्रदूषण के ‘घातक कॉकटेल’ में घिर सकते हैं।

दिल्ली फायर सर्विस के चीफ फायर ऑफिसर अतुल गर्ग ने बुधवार शाम को बताया कि कूड़े में पिछले कई दिन से लगी आग को बुझाने के लिए फायरकर्मी पूरा प्रयास कर रहे हैं, लेकिन यह आसानी से काबू में नहीं आ रही है। मौके पर फायर सर्विस की 15 गाड़ियां लगी हुई हैं।

आग बुझाने के लिए पानी के अलावा निर्माण के मलबे और मिट्टी का भी उपयोग किया जा रहा है। गर्ग ने बताया कि कूड़े से निकल रही मीथेन गैस के कारण आग बार-बार भड़क रही है। मंगलवार को उत्तरी दिल्ली के मेयर आदेश गुप्ता व एनडीएमसी कमिश्नर मधुप व्यास ने भी मौके का निरीक्षण किया था और इस लैंडफिल साइट की समस्या का निपटारा करने के लिए लांग-टर्म व शार्ट-टर्म, दोनों तरह के उपाय करने की घोषणा की थी।