शारदा यूनिवर्सिटी के एहतेशाम बिलाल का ‘इस्लामिक स्टेट कनेक्शन’, सुराग की तलाश में J&K पुलिस

ग्रेटर नोएडा से एक श्रीनगर का एक छात्र लापता हुआ, नाम है एहतेशाम बिलाल। युवक के बारे में दावा किया गया है कि वह आतंकवाद प्रभावित पुलवामा जिले में है। उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि 19 वर्षीय एहतेशाम बिलाल शारदा यूनिवर्सिटी का छात्र था। अक्टूबर में वह श्रीनगर गया। बाद में एक विडियो सामने आया, जिसमें उसे इस्लामिक स्टेट ऑफ जम्मू ऐंड कश्मीर (आईएसजेके) का हिस्सा बताया जा रहा है। हालांकि, ओपी सिंह का कहना है कि वह विडियो की प्रमाणिकता का कतई दावा नहीं करते हैं।

उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा, ‘हमने जम्मू-कश्मीर पुलिस के साथ जानकारी साझा की है, वे इस मामले में जांच कर रहे हैं। हम यूपी में शारदा यूनिवर्सिटी (ग्रेटर नोएडा) या जम्मू-कश्मीर से मिलने वाली एक-एक जानकारी पर बराबर नजर बनाए हुए हैं।’
ओपी सिंह के मुताबिक, ‘नैशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) से मिले इनपुट के आधार पर हमने जालौन से एक 18 वर्षीय युवक को शुक्रवार को हिरासत में लिया है। उस पर आरोप है कि उसने अमेरिका के मियामी एयरपोर्ट में हमले के लिए धमकीवाली कॉल की थी। अक्टूबर महीने में पांच बार कॉल की गई। पूछताछ में पता चला है कि उसने कॉल करने की बात स्वीकार भी की है।’
हिरासत में लिए गए युवक पर यह भी आरोप है कि उसने तीन हजार बिटकॉइन हड़पे जाने के मामले में एफबीआई को कॉल कर मदद मांगी थी।
19 वर्षीय एहतेशाम बिलाल की तस्वीर को इस्लामिक स्टेट जम्मू ऐंड कश्मीर के साथ जोड़कर दिखाए जाने के मामले में शारदा यूनिवर्सिटी के पीआरओ ने बताया, ‘हमें उसके गायब होने की सूचना 28 अक्टूबर को मिली थी। हमने उसके रिश्तेदारों और माता-पिता से बातचीत की लेकिन उन्हें एहतेशाम के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। हमने उसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर देखी और पुलिस को सूचना दी।’
गौरतलब है कि पिछले दिनों शारदा यूनिवर्सिटी में अफगानी और भारतीय मूल के छात्रों के बीच विवाद हुआ था। उस दौरान कश्मीर के छात्र एहतेशाम पर भी हमला हुआ था। एहतेशाम बीएमआईटी फर्स्ट ईयर का छात्र है। उसकी फर्स्ट सेमेस्टर की परीक्षा पिछले हफ्ते ही खत्म हुई थी। वह 28 अक्टूबर को घूमने के लिए निकला था। उसके बाद नॉलेज पार्क स्थित अपने हॉस्टल नहीं पहुंचा। इस मामले में उसके चचेरे भाई मोहिसिन की शिकायत पर नॉलेज पार्क थाने में केस दर्ज किया गया था।