इंडियन मुजाहिद्दीन से जुड़े 7 बांग्लादेशियों के काठमांडू में होने के ख़बर

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई एक बार फिर से इंडियन मुजाहिदीन को जिंदा करने की साज़िश में लगी हुई है. भारतीय ख़ुफ़िया एजेंसियों की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ आईएसआई की नज़र बांग्लादेशियों पर है जिन्हें इंडियन मुजाहिद्दीन में शामिल कर भारत पर हमला कराने की साज़िश में लगी है. खुफ़िया एजेंसियों को जो नए इनपुट मिले है उनके मुताबिक 7 बांग्लादेशी संदिग्ध पिछले महीने बांग्लादेश से होते हुए काठमांडू पहुंचे है जिन्हें आईएसआई वहां से अपने स्लीपर सेल के जरिये पाकिस्तान के लाहौर ले जाने की कोशिश में लगी है.

ख़ुफ़िया एजेंसियो को शक है कि इन्हें ट्रेनिंग देकर पाकिस्तान इनके जरिए भारत पर हमले करा सकता है.

केंद्रीय सुरक्षा से जुड़े एक अधिकारी के मुताबिक हमें ऐसे इनपुट मिले है कि पाकिस्तान की आईएसआई बांग्लादेश के कुछ आतंकवादी संघटनों जैसे कि जमात उल मुजाहिद्दीन यानी जेएमबी के साथ मिलकर भारत और बांग्लादेश के खिलाफ आतंकी गतिविधियों को अंजाम दे सकती है.

नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी यानी एनआईए की एक रिपोर्ट के मुताबिक ऐसे ही संदिग्ध इदरिस के बारे में ये जानकारी मिली थी कि वो कोलकाता में छुपा गया है जो जमात उल मुजाहिद्दीन और इंडियन मुजाहिद्दीन के बीच एक अहम कड़ी है. एनआईए के सूत्रों को मुताबिक इदरिस को ये टास्क दिया गया है कि इंडियन मुजाहिद्दीन के नेटवर्क को वो दोबारा मजबूत कर.एजेंसियो के मुताबिक इदरिस इस सिलसिले में वो पश्चिम बंगाल के साथ साथ ओड़िसा समेत कई राज्यों में जा चुका है और साथ ही में कई बार बांग्लादेश जाकर वो जेएमबी के कई आतंकियों से मिल चुका है.

जांच एजेंसिया पिछले कई दिनों से इदरिस की तलाश में है.एजेंसियो को शक है कि जो 7 बांग्लादेशी इस वक़्त काठमांडू में देखें गए है उनके तार इदरिस से ज़ुड़े हो सकते है.

हम आपको बता दे कि जब से भारतीय जांच एजेंसियों की पकड़ में इंडियन मुजाहिद्दीन का संस्थापक यासीन भटकल आया है .इंडियन मुजाहिद्दीन की इससे कमर टूट गयी है. भारत पर बड़े हमले न कर पाने से आईएसआई बौखलाहट में है और इसके लिए उसकी नज़र एक बार फिर से सिमी पर है.

कुछ दिनों पहले एक ख़ुफ़िया रिपोर्ट में ये कहा गया था कि बांग्लादेश में इस्थित जमात उल मुजाहिद्दीन के टेरर कैम्प्स में लश्कर ए तैयबा के आतंकवादियों को देखा गया था जो आईएसआई के इशारे पर जेएमबी के आतंकियो को ट्रेनिग दे रहे हैं.