महिलाओं से छेड़छाड़ करना अब पड़ेगा भारी, पकड़े गए तो एंटी रोमियो स्क्वायड जारी करेगी ‘रेड कार्ड’

सार्वजनिक जगहों पर महिलाओं का उत्पीड़न करते पाए गए, दोषियों को नोएडा पुलिस पहले चेतावनी स्वरूप ‘रेड कार्ड’ जारी करेगी. इसके बाद भी अगर वे ऐसी गतिविधि में लिप्त पाए जाते हैं तो उनके खिलाफ आपराधिक कार्रवाई शुरू की जाएगी. गौतमबुद्धनगर पुलिस के सूरजपुर स्थित पुलिस कार्यालय में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में पुलिस अधीक्षक ग्रामीण द्वारा क्षेत्राधिकारी ग्रेटर नोएडा प्रथम की उपस्थिति में जनपद के समस्त थानों पर गठित एंटी रोमियो स्क्वाड की मीटिंग ली गई.

दरअसल, गौतमबुद्धनगर के एंटी रोमियो स्क्वाड को और अधिक प्रभावशाली बनाने के लिए एक अभिनव प्रयोग की शुरुआत की जा रही है, जिसके अंतर्गत सभी टीमों को स्कूल कॉलेजों में जा कर वहां के प्रधानाचार्य/ प्रबंधकों के माध्यम से फीडबैक फॉर्म को छात्राओं के बीच वितरित करा के उनके बहुमूल्य सुझाव लेंगे. इसमें इस बात की भी जानकारी ली जाएगी कि वह कौन- कौन से स्थान हैं, जहां एंटी रोमियो स्क्वाड की सक्रियता बढ़ाने की जरूरत है.

एंटी रोमियो स्क्वाड द्वारा सार्वजनिक स्थानों पर जिन शोहदों को किसी आपत्तिजनक/अशोभनीय कृत्य करते हुए पकड़ा जाएगा, उन्हें टीम द्वारा ‘रेड कार्ड’ दिया जाएगा. यह रेड कार्ड उक्त व्यक्तियों को अंतिम चेतावनी स्वरूप निर्गत किया जाएगा और उनकी सभी डिटेल टीमें अपने रजिस्टर में नोट करेंगी. एंटी रोमियो स्क्वायड में महिला एवं पुरूष कांस्टेबल दोनों होंगे.

आपको बता दें कि साल 2017 में योगी आदित्यनाथ के पदभार ग्रहण करने के तुरंत बाद उत्तर प्रदेश में महिलाओं का पीछा करने वालों और छेड़खानी करने वालों पर लगाम लगाने के लिये एंटी रोमियो स्क्वायड गठित किए गए थे.

पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि दोषियों को चेतावनी के तौर पर पहले ‘रेड कार्ड’ दिया जाएगा और अगर किसी व्यक्ति को इससे पहले यह कार्ड जारी किया जा चुका है और वह दोबारा ऐसी ही गतिविधि में लिप्त पाया जाता है तो उसके खिलाफ आपराधिक कार्रवाई शुरू की जाएगी.