बजट से पहले व‍ित्‍त मंत्री अरुण जेटली मेडिकल चेकअप के लिए अमेरिका गए

वित्तमंत्री अरुण जेटली अमेरिका गए हैं, जहां माना जा रहा है कि वह अपनी किडनी संबंधी बीमारी से संबंधित स्वास्थ्य जांच कराएंगे. इससे पहले 66 वर्षीय जेटली ने पिछले साल 14 मई को गुर्दा प्रत्यारोपण सर्जरी करवाई था. वे रविवार को अमेरिका रवाना हुए. वे कब लौटेंगे, इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है. सूत्रों का कहना है कि उनके 19 जनवरी को लौटने की उम्मीद है, जबकि अन्य का कहना है उन्हें अभी और दिन वहां रुकना होगा.

अधिकारी उनकी इस यात्रा के बारे में कुछ बोलने से बच रहे हैं. यह यात्रा ऐसे समय हो रही है, जब वित्त मंत्रालय अंतरिम बजट की तैयारियों में व्यस्त है, जिसे लोकसभा में 1 फरवरी को पेश किया जाना है. यह जेटली का छठा और भारतीय जनता पार्टी नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार की वर्तमान अवधि का आखिरी बजट होगा.

ऐसी परिपाटी है कि अंतरिम बजट में आमतौर पर नए प्रस्ताव शामिल नहीं किए जाते हैं, खास तौर से कराधान संबंधी. लेकिन, आगामी अंतरिम बजट कुछ आश्चर्यचकित करनेवाला हो सकता है, क्योंकि इसमें आयकर छूट की सीमा बढ़ाने और संकट से जूझ रहे कृषि क्षेत्र को राहत प्रदान करने की घोषणा हो सकती है.

जेटली पिछले साल अप्रैल की शुरुआत में एम्स में भर्ती हुए थे, जहां उनका डायलिसिस किया गया था. उनकी 14 मई 2018 को गुर्दा प्रत्यारोपण सर्जरी हुई थी. उनकी अनुपस्थिति में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने 14 मई को वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार संभाला था.

जेटली पिछले साल अप्रैल से लेकर अगस्त तक अपने नार्थ ब्लॉक स्थित कार्यालय से अनुपस्थित रहे थे. उन्होंने सर्जरी के बाद दोबारा 23 अगस्त 2018 को पदभार संभाला था. इससे पहले साल 2014 के सितंबर में उन्होंने मधुमेह की बीमारी गंभीर हो जाने के बाद बेरियाटिक सर्जरी कराई थी.