COVID-19 के मद्देनजर 1 अप्रैल से शुरू होने वाले जनगणना रजिस्टर का काम अगले आदेश तक स्थगित

कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर केंद्र सरकार ने 1 अप्रैल से शुरू होने वाले जनगणना रजिस्टर का काम अगले आदेश तक स्थगित कर दिया है. केंद्र सरकार ने अपने आदेश में कहा है कि क्योंकि अनेक राज्यों में और केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना वायरस को लेकर बंद है, लिहाजा ऐसे में इस कार्य को नहीं किया जा सकता.

जनगणना 2021 दो चरणों में की जानी थी. पहला चरण मकानसूचीकरण और मकान गणना-अप्रैल से सितंबर, 2020 और दूसरा चरण जनसंख्या गणना-9 फरवरी से 28 फरवरी 2021 तक की जानी थी. जनगणना 2021 के प्रथम चरण के साथ राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) का अपडेशन असम के अतिरिक्त सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में भी प्रस्तावित था.

कोविड-19 के प्रकोप के कारण, भारत सरकार के साथ-साथ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा भी हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है. गृह मंत्रालय के आदेश दिनांक 24 मार्च 2020 के तहत देश में कोविड-19 महामारी के रोकथाम के लिए उठाए जाने वाले उपायों पर भारत सरकार के मंत्रालयों/विभागों और राज्य/केंद्र शासित प्रदेश सरकारों द्वारा उनके सख्त कार्यान्वयन के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं. अनेक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा लॉकडाउन भी घोषित कर दिया गया है.

भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने सामाजिक सावधानी सहित विभिन्न एहतियाती उपायों के लिए सलाह जारी की है. उपयुक्त बातों को ध्यान में रखते हुए; जनगणना 2021 के प्रथम चरण और एनपीआर का अपडेशन और फील्ड से जुड़े दूसरे कार्य जो कि 1 अप्रैल, 2020 से शुरू होने थे, को अगले आदेश तक स्थगित किया जाता है.