कहां गया चंद्रयान-2 का लैंडर विक्रम, लोकेशन ढूंढने में नासा फिर हुआ नाकाम

चंद्रमा की सतह पर गायब हुआ चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम का लोकेशन ढूंढने में नासा फिर एक बार असफल हुआ है। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने बताया कि लूनर रिकॉर्नेशन ऑर्बिटर (एलआरओ) को चंद्रमा की सतह पर चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर का कोई सबूत नहीं मिला है। बता दें कि सात सितंबर को चंद्रमा पर साफ्ट लैंडिंग के दौरान इसरो का लैंडर विक्रम से संपर्क टूट गया था।
एलआरओ मिशन के प्रोजेक्ट साइंटिस्ट नोआ एडवर्ड पेट्रो ने बताया कि लूनर रिकॉर्नेशन ऑर्बिटर ने 14 अक्तूबर को चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर के लैंडिंग साइट के क्षेत्र में प्रवेश किया था लेकिन उसे लैंडर का कोई भी सबूत नहीं मिला।

पेट्रो ने कहा कि नासा की टीम ने चेंज डिटेक्शन तकनीक के द्वारा एलआरओ के तस्वीरों की सावधानीपूर्वक जांच की और विक्रम का पता लगाने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि इसका उपयोग चंद्रमा पर नए उल्कापिंड के प्रभाव को खोजने के लिए किया जाता है।

एलआरओ मिशन के उप परियोजना वैज्ञानिक जॉन केलर ने आशंका जताई कि यह संभव है कि विक्रम किसी गढ्ढे की छाया में या खोज क्षेत्र के बाहर स्थित हो। कम अक्षांश के कारण लगभग 70 डिग्री दक्षिण में स्थित इस क्षेत्र के कई हिस्से गहरे अंधकार में भी हैं।

बता दें कि इससे पहले भी एलआरओ ने 17 सितंबर को विक्रम के लैंडिंग साइट के उपर से उड़ते हुए कई हाई रिजॉल्यूशन फोटोज को लिया था, लेकिन उसमें भी विक्रम का कोई पता नहीं चल सका था।