छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सलियों और सुरक्षाबल के बीच मुठभेड़, 2 जवान शहीद

छत्तीसगढ़ के बीजापुर के केशकुतुल इलाके में नक्सलियों और सुरक्षाबल के बीच हुए एनकाउंटर में सीआरपीएफ के दो जवान शहीद हो गए. सुरक्षाबल और नक्सलियों के बीच चल रही मुठभेड़ अभी भी जारी है, जहां दोनों तरफ से गोलीबारी की जा रही है. घटना बीजापुर के केशकुतुल इलाके की है, जहां घात लगाए बैठे नक्सलियों ने अचानक सुरक्षाबल पर हमला कर दिया. जिससे सीआरपीएफ के 2 जवान शहीद हो गए.

बता दें बीजापुर के अलावा शुक्रवार के तड़के ही सर्च अभियान के दौरान सीआरपीएफ की 27 वीं बटालियन आईटीबीपी ने राजनंदगांव जिले में नक्सलियों के एक कैंप को ध्वस्त कर दिया. इस संक्षिप्त मुठभेड़ के बाद सुबह लगभग 4:00 बजे आईटीबीपी और छत्तीसगढ़ पुलिस की संयुक्त टीमों ने जिले के कोहकाटोली जंगल में स्थित नक्सलियों के ठिकाने को ध्वस्त किया. ऑपरेशन के दौरान सुरक्षाबल को भारी पड़ता देख नक्सली जंगल के रास्ते से भाग निकले. वहीं इलाके की खोजबीन करने के बाद आईटीबीपी ने घटनास्थल से एक 303 राइफल, 12 बोर की 2 राइफल, एक भरमार राइफल, एक एयर गन और वायरलेस सेट्स जैसी रोजमर्रा की जरूरत की अन्य चीजें बरामद की हैं.

बता दें इससे पहले ही बीजापुर में नक्सलियों ने एक असिस्टेंट कांस्टेबल की चाकू मारकर हत्या कर दी थी और इसके अलावा समाजवादी पार्टी के एक नेता संतोष पुनेम को भी अगवा कर हत्या कर दी थी, जिसके बाद से इलाके में भारी तनाव का माहौल था.

ठेकेदारी का काम करता था पुनेम
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पुनेम क्षेत्र में ठेकेदारी का कार्य करता था. 18 जून की शाम को नक्सलियों ने पुनेम का अपहरण कर लिया था. जिसके बाद 19 जून की शाम को उसका शव मिलने की खबर मिली. अधिकारियों ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली कि पुनेम का शव मरीमल्ला पहाड़ी के पास पड़ा हुआ है तब घटनास्थल के लिए पुलिस दल को रवाना किया गया.