असम के लोगों से पीएम की अपील- ना हों परेशान, नहीं होगा आपके अधिकारों का हनन

नागरिकता संशोधन विधेयक, 2019 (कैब) को संसद के दोनों सदनों से मंजूरी मिल गई है। वहीं पूर्वोत्तर के राज्यों खासतौर से असम में विधेयक का विरोध हो रहा है। कई जगहों पर प्रदर्शनकारियों ने आगजनी की। जिसके बाद कुछ स्थानों पर कर्फ्यू लगाया गया है। राज्य में जारी अशांति को देखते हुए कई एयरलाइंस ने अपनी सेवाएं रद्द कर दी हैं। इसी बीच प्रधानमंत्री ने असम के लोगों से शांति की अपील की। उन्होंने उन्हें आश्वासन दिया कि उनका हक नहीं छीना जाएगा। 

प्रधानमंत्री मोदी ने असम के लोगों को आश्वस्त किया कि उन्हें नागरिकता (संशोधन) विधेयक के संसद में पारित होने से चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है और काई उनके अधिकारों, विशिष्ट पहचान और खूबसूरत संस्कृति को छीन नहीं सकता।

प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, ‘मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि कोई आपके अधिकारों, विशिष्ट पहचान और खूबसूरत संस्कृति को छीन नहीं सकता है। यह आगे बढ़ता और फलता-फूलता रहेगा।’ उन्होंने कहा कि वह असम के लोगों को आश्वस्त करना चाहते हैं कि नागरिकता (संशोधन) विधेयक पारित होने से उन्हें चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार और मैं संविधान के अनुरूप असम के लोगों के राजनीतिक, भाषायी, सांस्कृतिक और भूमि संबंधी अधिकारों की संवैधानिक सुरक्षा सुनिश्चित करने को प्रतिबद्ध हैं।