दिल्ली में बढ़ा ठंड का कहर, अगले दो दिनों में और बढ़ेगी ठंड

नई दिल्लीः राजधानी दिल्ली में जैसे-जैसे ठंड का कहर बढ़ रहा है, वैसे-वैसे वायु प्रदूषण में भी इजाफा हो रहा है. दिल्ली हाई कोर्ट के सामने लगे पॉल्यूशन मॉनिटर पर PM10- 589 और PM2.5- 305 तक जा पहुंचा है, जो कि बेहद खतरनाक से भी ऊपर है. यह वही स्थिति है जब दिल्ली एनसीआर में दिवाली के बाद हालात उत्पन्न हो गए थे. आपको बता दें कि रविवार को दिल्ली की हवा में प्रदूषण लगभग दिवाली के बाद के स्तर तक पहुंच गया था जबकि, ठंड ने पिछले 12 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया था.

दिल्ली-एनसीआर के ज्यादातर हिस्सों में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) गंभीर स्तर पर बना रहा था. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक दिन भर का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 450 अंक रहा जबकि, सफर के मुताबिक वायु गुणवत्ता सूचकांक 471 रहा था.

विज्ञानिक कुलदीप श्रीवास्तव ने मीडिया को बताया कि जम्मू-कश्मीर सहित हिमालय क्षेत्र में बर्फबारी होने के चलते मैदानी इलाकों में शीतलहर चल रही है, हालांकि अगले 2 दिन तक ठंड से थोड़ी बहुत राहत मिलने की उम्मीद है, लेकिन अगले दो दिनों के बाद दिल्ली-एनसीआर सहित उत्तर भारत में शीतलहर का प्रकोप और बढ़ेगा, जिससे तापमान 3 डिग्री तक पहुंच जाएगा…श्रीवास्तव ने बताया कि मौसम में नमी और हवा में बहाव नहीं होनेकी वजह से दिल्ली और एनसीआर में वायु प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ रहा है, लेकिन 26 दिसंबर के बाद हवा का बहाव होगा जिससे दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण में कमी देखने को मिलेगी.

यह साल में दूसरी बार है जब प्रदूषण का स्तर सबसे ज्यादा रहा. इससे पहले दिवाली के अगले दिन यानी आठ नवंबर को सबसे ज्यादा प्रदूषण था, तब एक्यूआई 571के करीब पहुंच गया था. सीपीसीबी नीत कार्यबल ने लोगों से अगले कुछ दिनों तक कम से कम घर से निकलने और निजी वाहनों के इस्तेमाल से बचने को कहा है.पीएम 2.5 के ‘गंभीर एवं आपात’ श्रेणी में पहुंचने के मद्देनजर शनिवार को सीपीसीबी नीत कार्यबल ने बैठक की. पीएम 2.5 के प्रदूषण में लंबे समय तक रहने से कैंसर जैसी बीमारी होने और स्ट्रोक का खतरा बढ़ सकता है.