कर्नाटक में गिर सकती है कुमारस्वामी की सरकार, कांग्रेस-JDS के 11 MLA का इस्तीफा

कर्नाटक में मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी की अगुवाई वाली कांग्रेस+जेडीएस की सरकार गिर सकती है. शनिवार को कांग्रेस और जेडीएस के 11 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है. राज्य विधानसभा के स्पीकर रमेश कुमार ने कहा कि कांग्रेस और जेडीएस के 11 विधायकों का इस्तीफा उनके दफ्तर में आया है. उन्होंने कहा कि वे रविवार को छुट्टी पर हैं और सोमवार को वह विधानसभा स्थित अपने दफ्तर पहुंचने के बाद ही पूरी स्थिति स्पष्ट कर पाएंगे. उधर कांग्रेस विधायक बीसी पाटिल ने दावा किया है कि दोनों दलों के 14 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है.

स्पीकर रमेश कुमार ने कहा कि उन्हें आज अपनी बेटे को लेने जाना था, इसलिए वह दफ्तर से जल्दी घर आ गए थे. उन्होंने अपने दफ्तर के कर्मचारियों को कहा है कि वह विधायकों का इस्तीफा कबूल कर लें और उन्हें इसकी पावती दे दें. स्पीकर अब सोमवार को दफ्तर जाएंगे तब डिटेल में बातें बता पाएंगे. उन्होंने कहा कि मुझे दफ्तर से सूचना मिली है कि 11 विधायकों का इस्तीफा आ चुका है.

दावा किया जा रहा है कि इन विधायकों ने इस्तीफा दिया है.-:
1. प्रताप गोड़ा पाटील, कांग्रेस (Pratapgowda patil)
2. शिवराम हेबार, कांग्रेस (Shivaram Hebbar)
3. रमेश जारखोली, कांग्रेस (Ramesh jarkiholi)
4. गोपालाह, जेडीएस (Gopalaiah)
5. महेश कुमाति हाली, कांग्रेस (Mahesh Kumati Halli)
6. एच विश्वनाथ, जेडीएस (H Vishwanath)
7. नारायण गोड़ा कांग्रेस (Narayan Gowda)
8. बीसी पाटील, कांग्रेस (B c patil)
9. रामलिंगा रेड्डी, कांग्रेस (Ramalinga reddy)
10. सोम्या रेड्डी, कांग्रेस (Sowmya reddy)
11 . बी सुरेश, कांग्रेस (Byrsthi Suresh)
12. मुनिरथना, कांग्रेस (Munirathna)

कांग्रेस के संकटमोचक के साथ गए 4 विधायक
उधर, बताया जा रहा है कि कर्नाटक में कांग्रेस के संकटमोचक माने जाने वाले डीके शिवकुमार के साथ कांग्रेस के चार विधायक जाते हुए दिखे हैं. रामलिंगा रेड्डी (Ramlinga Reddy ), एसटी सोमशेखर (S T Somshkher), मुन्नी रत्ना (Munni Rathna) और बायरत्ती बिस्वराज (Bayratti Basawraj) डीके शिवकुमार के साथ जाते हुए देखे गए हैं.

बीजेपी के प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा ने कहा कि कर्नाटक में अनैतिक गठबंधन की सरकार चल रही है. पहले से आशंका थी कि वहां यह सरकार ज्यादा दिन नहीं चल पाएगी. बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व पूरे घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए है. वहीं कांग्रेस प्रवक्ता राशिद अल्वी ने कहा कि बीजेपी की सरकारों को गिराने की फितरत रही है. बीजेपी की मौजूदा सरकार गोवा में भी इसी तरह से सरकार बनाई है.

कांग्रेस के दो विधायक दे चुके हैं इस्तीफा
यहां आपको बता दें कि एक जुलाई को कर्नाटक में कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार को झटका देते हुए बागी विधायक रमेश जरकीहोली सहित दो कांग्रेस विधायकों ने सोमवार को राज्य विधानसभा से इस्तीफा दे दिया. विधानसभा अध्यक्ष के.आर. रमेश कुमार को भेजे गए कन्नड़ भाषा में हाथ से लिखे पत्र में जरकीहोली ने शिकायत की कि उनकी पार्टी ने पिछले साल मंत्रिमंडल से उन्हें बाहर कर उनकी वरिष्ठता को ‘अनदेखा’ किया.

यहां आपको बता दें कि 2018 में कर्नाटक में हुए विधानसभा चुनाव में किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं आया था, जिसके बाद कांग्रेस और जेडीएस ने मिलकर सरकार चला रहे हैं. विधानसभा के 225 सीटों में से भाजपा को 104 सीटें मिली, जो बहुमत से नौ कम हैं. कांग्रेस 80 सीटें जीतने में कामयाब रही और उसने जद-एस के साथ मिलकर 23 मई को गठबंधन सरकार बनाया. जेडीएस ने 37 सीटों पर जीत दर्ज की थी. कांग्रेस ने जद (एस) को बिना शर्त समर्थन दिया है.