पूजा विवाद पर बोले राजनाथ सिंह, राफेल होता तो एयर स्ट्राइक के लिए बालाकोट नहीं जाना पड़ता

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने हरियाणा के करनाल में एक जनसभा को संबोधित किया। जनसभा को संबोधित करते हुए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कांग्रेस और इनेलो की पूर्ववर्ती सरकारों पर जमकर निशाना साधा। वहीं राफेल पर ओम लिखने पर उपजे विवाद को लेकर भी कांग्रेस पर जमकर पलटवार किया।उन्होंने कहा कि मैं कह सकता हूं कि हरियाणा के पिछले मुख्यमंत्री के उलट मनोहर लाल सरकार ने जमीनी स्तर पर काम किया है। जबकि पिछली सरकारें में चाहे कांग्रेस के सीएम हों या इनेलो के, वो दिल्ली से अपनी सरकार चलाते थे, हरियाणा से नहीं।

करनाल में एक बार फिर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बालाकोट एयर स्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा कि अगर हमारे पास राफेल लड़ाकू विमान होता तो मुझे लगता है कि हमें बालाकोट एयर स्ट्राइक के लिए पाकिस्तान जाने की जरूरत नहीं पड़ती। हम भारत में बैठकर भी वहां के आतंकी शिविर को खत्म कर सकते थे।

गौरतलब है कि दशहरा के मौके पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह फ्रांस गए थे। वहां पर उन्होंने राफेल की पूजा भी की थी। हालांकि राफेल पर ओम लिखने के बाद जमकर विवाद हुआ था। 

इस पर राजनाथ सिंह ने कहा कि मैं साधारण परिवार का हूं। मुझे लगा कि यह एक नया प्लेन है तो इसकी हमें पूजा करनी चाहिए। नरियल भी फोड़ा। अब यहां कांग्रेस के लोगों ने विवाद खड़ा कर दिया। राजनाथ ने कहा कि ये तो साम्प्रदायिक हो गए। ओम लिखने पर विवाद खड़ा कर दिया। क्या अपने घरों में ओम नहीं लिखा जाता है।

जहां मैं पूजा कर रहा था वहां सभी धर्मों के लोग खड़े थे। कांग्रेस को इसका स्वागत करना चाहिए कि देश को नया फाइटर प्लेन मिल रहा है, लेकिन उन्होंने अलोचना करना शुरू कर दी। रक्षामंत्री ने यह भी कहा कि कांग्रेस के लोगों के बोलने से पाकिस्तान को ताकत मिलती है। इसलिए इस चुनाव में इन्हें मुंहतोड़ जवाब देना चाहिए।